15 अगस्त को जो अधिकारी हुआ सम्मानित, आज वही रिश्वत लेते गिरफ्तार

बाड़मेर,

10 दिन पहले यानी 15 अगस्त को कैबिनेट मंत्री, कलेक्टर, एसपी ने सराहनीय कार्यों के लिए जिस जिला शिक्षा अधिकारी को सम्मानित किया था और आज उसी अधिकारी को एसीबी ने 50 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है. कमाल की बात है कि जिला शिक्षा अधिकारी का 5 दिन बाद ही रिटायरमेंट था, लेकिन उससे पहले रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़े गए.

दरअसल, सस्पेंड हुए स्कूल के टीचर बाबूलाल ने एसीबी जैसलमेर में शिकायत दी कि मेरे सस्पेंड काल के दौरान सैलरी और विभागीय जांच में मदद करने के नाम पर शिक्षा अधिकारी केसर दान रत्नू 2 लाख की रिश्वत मांग रहे हैं, 24 अगस्त को शिकायत का सत्यापन करवाया गया और आज कार्यवाही करते हुए 50 हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया गया है.

एसीबी के डीएसपी अन्नराज ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि बाड़मेर जिले के चौहटन कस्बे में स्टेशनरी की दुकान पर 50 हजार की रिश्वत दलाल जीवनदान आशु सिंह के माध्यम से लेते हुए केसर दान रत्नू को गिरफ्तार किया गया है, एक दिन बाद एक लाख रुपये की रिश्वत देने के लिए कहा था.

15 अगस्त को कैबिनेट मंत्री हेमाराम चौधरी और कलेक्टर-एसपी ने प्रारंभिक शिक्षा द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए डीईओ केसर दान रत्नू को सम्मानित किया था. 36 सालों की सरकारी सेवा के बाद इसी महीने की 31 तारीख यानी 5 दिन बाद केसर दान रत्नू का रिटायरमेंट होना था. रिटायरमेंट के लिए घर में कार्यक्रम की तैयारी चल रही थी, लेकिन इसी बीच अधिकारी रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार हो गए हैं. अब विभिन्न ठिकानों पर एसीबी की टीम कार्रवाई कर रही है.

About bheldn

Check Also

संदेशखाली में झाड़ू के साथ महिलाओं का विरोध प्रदर्शन, ममता के मंत्री बोले- हमें डेढ़ महीने की मोहलत दे दो

संदेशखाली, पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में पिछले कई दिनों से हंगामा मचा हुआ है. संदेशखाली …