एमसीडी चुनाव में कौन जीतेगा, BJP या AAP? सर्वे का नतीजा देखिए

नई दिल्‍ली

दिल्‍ली नगर निगम (MCD) चुनाव 2022 की रणभेरी बज चुकी है। तारीख का ऐलान होते ही सभी दल चुनावी तैयारियों को अंतिम रूप देने में लग गए हैं। ओपिनियन पोल्‍स में एमसीडी चुनाव के नतीजों का अनुमान लगना भी शुरू हो गया है। एबीपी-सी वोटर का ओपिनियन पोल MCD में सत्‍ताधारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लिए अच्‍छे संकेत नहीं दे रहा। सर्वे के नतीजे बताते हैं कि पार्टी को बहुमत बरकरार रखने में मशक्‍कत करनी पड़ सकती है। उसे अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (AAP) से कड़ी टक्‍कर मिलने के आसार हैं। ABP-CVoter के MCD Election 2022 Opinion Poll के अनुसार, 250 वार्डों वाली एमसीडी में बीजेपी 118-138 सीटें जीत सकती है। AAP को 104-124 सीटें मिलने का अनुमान है। कांग्रेस का खस्‍ताहाल प्रदर्शन जारी रहने का अंदाज लगाते हुए सर्वे बताता है कि उसे 4 से 12 वार्ड में जीत मिल सकती है। अन्‍य के खाते में 4 सीटें जा सकती हैं।

बीजेपी और ‘आप’ ने लॉन्‍च किया इलेक्शन कैंपेन
दिल्ली नगर निगम (MCD) चुनाव की तैयारियों में राजनीतिक पार्टियां जुट गई हैं। उत्तर-पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद और भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने एमसीडी इलेक्शन के लिए बीजेपी का गाना कम्पोज किया है। उन्‍होंने इसे खुद गाया है। इसके लिरिक्स भी मनोज तिवारी के हैं। वहीं आम आदमी पार्टी (आप) ने भी सोमवार दोपहर एमसीडी चुनाव को लेकर कैंपेन लॉन्च किया। एमसीडी चुनाव प्रभारी दुर्गेश पाठक ने सुबह ट्विटर पर लिखा कि बीजेपी शासित एमसीडी ने 15 सालों में दिल्ली को तीन बड़े-बड़े कूड़े के पहाड़ दिए, पूरी दिल्ली को कूड़ा-कूड़ा बना दिया।

पहले वाले तेवरों के साथ होंगे एमसीडी चुनाव
राज्य चुनाव आयोग ने एमसीडी चुनाव 4 दिसंबर को कराने की घोषणा की है। 7 नवंबर को चुनाव के लिए अधिसूचना जारी हुई और इसी दिन से नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई। नामांकन की आखिरी तारीख 14 नवंबर और नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 19 नवंबर तय की गई है। काउंटिंग 7 दिसंबर को होगी। 4 दिसंबर को चुनाव प्रक्रिया सुबह 8 बजे से शाम 5:30 बजे तक चलेगी।

55,000 ईवीएम का होगा इस्तेमाल
इस बार चुनाव 250 वॉर्डों में होगा। चुनाव के लिए मॉडल-2 ईवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा। करीब 55,000 से अधिक ईवीएम एमसीडी चुनाव में इस्तेमाल होंगे। सभी ईवीएम का परीक्षण करा लिया गया है। इस चुनाव में दिल्ली चुनाव आयोग द्वारा 1 जनवरी, 2022 को जारी वोटर लिस्ट के अनुसार ही वोटरों की संख्या तय की गई है। जिसमें कुल वोटरों की संख्या 1,46,73,847 है। लेकिन, ऐसा नहीं है कि जिनके बाद में वोटर आईडी कार्ड बने हैं, वह वोट नहीं डाल सकते। नॉमिनेशन से पहले तक जितने वोटर कार्ड बने है, वे भी वोट दे सकते हैं।

About bheldn

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी की भाषा की गरिमा और भाजपा की सीटें गिरती जा रही हैं, राहुल ने क्यों कही ये बात

नई दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री …