गुजरात: BJP की सबसे युवा उम्मीदवार पर हंगामा, दंगे से जोड़ा जा रहा नाम

मुंबई,

गुजरात चुनाव में बीजेपी की तरफ से उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी गई है. पार्टी ने 160 प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है. इसी कड़ी में बीजेपी ने नरोदा विधानसभा सीट से पायल कुलकर्णी को टिकट दे दिया है. पायल बीजेपी नेता मनोज कुलकर्णी की बेटी हैं और चुनावी मैदान में सबसे युवा प्रत्याशी भीं. लेकिन उनका नाम सामने आते ही बड़ा विवाद छिड़ गया है. कांग्रेस आरोप लगा रही है कि पार्टी ने नरोदा पाटिया दंगे के आरोपी की बेटी को टिकट देकर शर्मनाक फैसला लिया है.

क्या है नरोदा पाटिया दंगा?
अब जानकारी के लिए बता दें कि गुजरात में वर्ष 2002 में हुए दंगों के दौरान अहमदाबाद में स्‍थ‍ित नरोदा पाटिया इलाके में 97 लोगों की हत्‍या कर दी गई थी. इस दंगे में 33 लोग घायल भी हुए थे. इस घटना को गोधरा में साबरमती एक्‍सप्रेस ट्रेन को जलाए जाने के एक दिन बाद अंजाम दिया गया था. अगस्‍त 2009 में नरोदा पाटिया कांड का मुकदमा शुरू हुआ. इसमें 62 आरोपियों के खिलाफ आरोप दर्ज किए गए थे. उसी लिस्ट में मनोज कुलकर्णी का नाम भी शामिल था. अब बीजेपी ने उन्हीं की बेटी को चुनावी मैदान में नरोदा से उतार दिया है.

काफी पढ़ी लिखी हैं पायल
कांग्रेस ने पायल की उम्मीदवारी पर सवाल उठाते हुए कहा है कि क्या बीजेपी को कोई दूसरा प्रत्याशी नहीं मिला था. बीजेपी लंबे समय से ऐसा कर रही है. लेकिन उनका ये फर्जी हिंदुत्व अब एक्सपोज हो चुका है. उनके जीतने की कोई संभावना नहीं बची है. अब पायल के नाम को लेकर विवाद जरूर है, लेकिन पार्टी को पूरा भरोसा है कि वे नरोदा सीट को जीत निकालेंगी. पायल कुलकर्णी की बात करें तो वे काफी पढ़ी लिखी हैं. उन्होंने अपनी S.S.C St. Xavier’s स्कूल से की थी. इसके बाद रूस से साल 2010 में उन्होंने एमडी की पढ़ाई पूरी की. वर्तमान में वे अहमदाबाद के स्टर्लिंग अस्पताल में काम कर रही हैं.

पायल को जीत का पूरा भरोसा
अपनी उम्मीदवारी पर पायल कुलकर्णी ने कहा है कि मुझे काफी खुशी है कि पार्टी ने मुझे टिकट दिया है. मेरे पिता ने 40 साल तक इस पार्टी की सेवा की है. मेरी मां भी कॉरपोरेटर हैं. अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद मैंने अपनी मां के चुनाव प्रचार में भी हिस्सा लिया था. मुझे पूरा विश्वास है कि मैं ये चुनाव जीतने वाली हूं. मैं सबसे ज्यादा अंतर से ये चुनाव जीतूंगी. मैं सिर्फ विकास की दिशा में ही काम करने वाली हूं.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …