हनी-ट्रैप में फंसकर पाकिस्तान भेज रहा था खुफिया जानकारी, विदेश मंत्रालय का ड्राइवर गिरफ्तार

नई दिल्ली,

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने विदेश मंत्रालय के एक ड्राइवर को गिरफ्तार किया है. उस पर जासूसी का आरोप है. पुलिस का कहना है कि ड्राइवर को जवाहरलाल नेहरू भवन से गिरफ्तार किया गया है. वह पैसों के बदले पाकिस्तान को गुप्त सूचनाएं और दस्तावेज मुहैया कराता था. बताया गया है कि वह जिस व्यक्ति को जानकारी देता था, वह पूनम शर्मा या पूजा के नाम से जुड़ा हुआ था. यह मामला हनीट्रैप का माना जा रहा है.

बताया जा रहा है कि खुफिया इनपुट के आधार पर दिल्ली पुलिस ने विदेश मंत्रालय के ड्राइवर को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है. सूत्रों के मुताबिक, पकड़ा गया ड्राइवर पाकिस्तान की एक महिला जासूस को  विदेश मंत्रालय से जुड़ी जानकारियों को भेज रहा था.

वह पूनम शर्मा नाम की जिस महिला के संपर्क में था, वह बताती थी कि वह कोलकाता में रहती है. सूत्रों का कहना है कि वह महिला पाकिस्तान की ISI की एजेंट है. मामले में अभी तक विदेश मंत्रालय की ओर से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है.

इससे पहले चीनी महिलाएं हुईं थी गिरफ्तार 
इससे पहले दिल्ली और फिर हिमाचल प्रदेश के मंडी से चाइना मूल की दो संदिग्ध महिलाओं की गिरफ्तारी की गई थी. इसके बाद अधिकारियों ने कहा था कि यह साफ इशारा कर रहा है कि चाइना हनी ट्रैप के जरिए भारत के खिलाफ कोई बड़ी साजिश रच रहा है.

दरअसल, चाइना आने वाले नए दलाई लामा की नियुक्ति में दखलंदाजी करना चाहता है. ड्रैगन की मंशा है कि अगला दलाई लामा प्रो-चाइना यानी चीन का समर्थक हो. इसलिए चाइना तिब्बियों का ब्रेन वॉश अपने एजेंटों जासूसों की मदद से इस तरह कराने में लंबे वक्त से सक्रिय है.दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने दोनों महिलाओं को गिरफ्तार किया था. महिलाओं के पास से नेपाली पासपोर्ट बरामद किया गया था, जबकि वे चीन की रहने वाली थी.

काठमांडू भागने की फिराक में थी दिल्ली में पकड़ी गई महिला
स्पेशल सेल की पूछताछ में खुलासा हुआ है कि दिल्ली से गिरफ्तार चाइना मूल की महिला भी हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में लंबे वक्त से रह रही थी. महिला का दावा है कि वह बौद्ध धर्म की शिक्षा लेने भारत आई थी.ये महिला दिल्ली होते हुए काठमांडू जाने की फिराक में थी. उसके पहले इसको मजनू के टीला इलाके से गिरफ्तार कर लिया गया. महिला के दोनो मोबाइल फोन और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स फोरेंसिक जांच के लिए भेजे गए थे.

बौद्ध धर्म की शिक्षा की कहानी बताई
कुछ इस तरह की कहानी हिमाचल प्रदेश के मंडी से गिरफ्तार चाइना मूल की महिला ने पुलिस को बताई. मंडी की एसपी के मुताबिक, महिला चौंतड़ा के प्रसिद्ध जोंगसर मठ तिब्बती मोनिस्टरी में पूजा करने के बहाने सितंबर में आई थी. करीब 24 दिनों से उसने चौंतड़ा में डेरा डाल रखा था.

पुलिस ने उससे साढ़े छह लाख की भारतीय और 1.10 लाख की नेपाली करंसी और दो मोबाइल फोन सहित कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए हैं. महिला के पास दो पासपोर्ट होने की जानकारी सुरक्षा एजेंसियों की मिली है. महिला रहने वाली चाइना की है, लेकिन नेपाल से फर्जी पासपोर्ट के जरिए उसने भारत में घुसपैठ की थी.

About bheldn

Check Also

‘मोदी की गोद में जाकर बैठे नीतीश, PM सबको निगल रहे हैं…’, पटना की रैली में बोले मल्लिकार्जुन खड़गे

पटना, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने रविवार को बिहार की राजधानी पटना में एक जनसभा …