G20 में भारत की भूमिका का मुरीद हुआ वाइट हाउस, भारत की अध्यक्षता को बताया इतिहास में महत्वपूर्ण

वाशिंगटन

वाइट हाउस ने शुक्रवार को कहा कि इंडोनेशिया में हाल में संपन्न हुए जी-20 शिखर सम्मेलन की बाली घोषणापत्र संबंधी बातचीत में भारत ने अहम भूमिका निभाई। उसने यह कहने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की कि आज का युग युद्ध का नहीं होना चाहिए। वाइट हाउस की प्रेस सचिव कैरेन ज्यां पियरे ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘भारत ने शिखर सम्मेलन के घोषणापत्र संबंधी बातचीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। प्रधानमंत्री मोदी ने स्पष्ट किया कि आज का युग युद्ध का नहीं होना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास अन्य प्राथमिकताओं के बीच एक लचीली वैश्विक अर्थव्यवस्था बनाने के अपने प्रयासों को जारी रखते हुए वर्तमान खाद्य एवं ऊर्जा सुरक्षा चुनौतियों को दूर करने का एक रास्ता है।’’ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन बृहस्पतिवार को इंडोनेशिया के बाली में जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेकर लौटे। भारत दिसंबर में जी-20 की अध्यक्षता संभालेगा। समूह के सभी सदस्यों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय का कहना है कि भारत की अध्यक्षता जी-20 के इतिहास में महत्वपूर्ण साबित होगी।

सम्मेलन से अलग पीएम मोदी से हुई बात
पियरे ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी के संबंध इस नतीजे के लिए महत्वपूर्ण थे और हम भारत की अगले साल जी-20 अध्यक्षता के दौरान सहयोग करने के लिए तत्पर हैं। हम अगली बैठक की प्रतीक्षा कर रहे हैं।’’ उन्होंने बताया कि बाइडन ने शिखर सम्मेलन से इतर मोदी और इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो से बात की।

G20 में पीएम मोदी और जिनपिंग की हुई मुलाकात
इंडोनेशिया में चले जी 20 शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच मुलाकात हुई। डिनर के दौरान दोनों की मुलाकात हुई थी। इस डिनर में अमेरिका और भारत की सीट पास-पास ही थी। डिनर में जो बाइडेन शामिल नहीं हुए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीब अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन बैठे हुए थे।

About bheldn

Check Also

MQ-9 रीपर की कब्रगाह बना यमन, हूतियों ने फिर मार गिराया अमेरिका का यह शक्तिशाली ड्रोन!

दुबई: यमन में एक और अमेरिकी MQ-9 रीपर ड्रोन गिरा है। हूतियों ने दावा किया …