ईडी के फर्जी समन के नाम पर करोड़ों ठगने की कोशिश, पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली

जापान की पेंट बनाने वाली एक प्रसिद्ध कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ठगी का मामला सामने आया है। कंपनी के अधिकारियों को कथित रूप से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के एक झूठे मामले का डर दिखाकर उनसे 15-20 करोड़ रुपये ऐंठने की कोशिश की गई। इस मामले में एक गिरोह के 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। सोमवार को एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि ईडी और दिल्ली पुलिस के संयुक्त दल ने आरोपियों को गिरफ्तार किया।

ईडी ने कहा कि ऐसे लोगों के डाल में न फंसे
ईडी ने यह भी कहा कि लोगों को ऐसे अपराधियों के जाल में नहीं फंसना चाहिए और एजेंसी के नाम पर जारी समन की प्रामाणिकता की जांच करने के लिए हर दस्तावेज पर दिये गये क्यूआर कोड को स्कैन करके देखना चाहिए।एजेंसी ने कहा कि मुंबई से कामकाज संचालित करने वाली प्रतिष्ठित विदेशी कंपनी ‘निप्पॉन पेंट्स’ ने हाल में उसे सूचित किया कि उसके अध्यक्ष और निदेशक को उनके खिलाफ धन शोधन की एक जांच के सिलसिले में दिल्ली में एजेंसी के दफ्तर में पेश होने के लिए समन भेजा गया है।

फर्जी समन भेज लोगों को फंसा रहा था गिरोह
ईडी ने अपने बयान में कहा कि एजेंसी के फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर यह किया गया। एजेंसी ने कहा कि यह पता चला कि एक अंतर-राज्यीय गिरोह सक्रिय है जो समाज के प्रतिष्ठित लोगों और व्यापारियों को निशाना बना रहा है तथा उन्हें ईडी के नाम पर जाली समन/नोटिस भेजकर धमका रहा है।

उसने कहा, ‘‘गिरोह के सदस्यों ने (इस मामले में) कंपनी (निप्पॉन पेंट्स) के अधिकारियों से संपर्क किया और उन्हें बताया कि उनके ईडी के कुछ अधिकारियों के साथ अच्छे संपर्क हैं और वे 15-20 करोड़ रुपये में मामले का निपटारा करा सकते हैं।’’ ईडी ने कहा, ‘‘जाल बिछाया गया और गिरोह के सदस्यों को बातचीत के लिए दिल्ली आने को कहा गया।’’ उसने कहा कि कुछ हिचकिचाहट के बाद गिरोह के सदस्य दिल्ली आने को तैयार हो गये और ईडी तथा दिल्ली पुलिस के संयुक्त दल ने मुख्य साजिशकर्ता अखिलेश मिश्रा एवं नौ अन्य को गिरफ्तार कर लिया।

About bheldn

Check Also

दिल्ली दंगों से जुड़े राजद्रोह केस में शरजील इमाम को दिल्ली HC से मिली जमानत

नई दिल्ली, दिल्ली दंगा राजद्रोह मामले में शरजील इमाम को दिल्ली हाईकोर्ट ने जमानत दे …