गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ शिवाजी के वंशज, एकनाथ शिंदे गुट ने भी की मांग, कोश्यारी को हटाएं

मुंबई

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी द्वारा छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में की गई टिप्पणियों के खिलाफ सोमवार को छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज खुलकर विरोध में आ गए हैं। इस मुद्दे पर राज्य के सत्ताधारी गठबंधन में भी तनाव हो गया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के गुट के विधायक संजय गायकवाडने कोश्यारी को हटाने की मांग की है। शिवाजी के वंशजों छत्रपति संभाजीराजे, उदयनराजे और शिवेंद्रराजे ने ही छत्रपति शिवाजी पर टिप्पणी के लिए राज्यपाल और सुधांशु के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने की मांग की है।

छत्रपति शिवाजी महाराज की कोल्हापुर गद्दी के वारिस और पूर्व राज्यसभा सांसद संभाजी छत्रपति ने राज्यपाल और सुधांशु त्रिवेदी का बचाव करने के लिए राज्य के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की भी आलोचना की है। उन्होंने कहा, ‘जिसके मन में छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रति सम्मान नहीं है, ऐसा राज्यपाल महाराष्ट्र में नहीं रहना चाहिए।’

वहीं, सातारा गद्दी के वारिस उदयनराजे ने राज्यपाल को तत्काल महाराष्ट्र से हटाने की मांग की है। सातारा गद्दी के ही दूसरे वारिस शिवेंद्रराजे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बयान की निंदा करते हुए कहा कि जिम्मेदार पद पर बैठे व्यक्ति को जिम्मेदारी से बोलना चाहिए।

बता दें, दो दिन पहले कोश्यारी ने शिवाजी की तुलना नितिन गडकरी से की थी। कोश्यारी ने कहा था, ‘शिवाजी महाराज पुराने दिनों के आदर्श थे। अब आप आंबेडकर से लेकर नितिन गडकरी को आदर्श बना सकते हैं।’ इस पर गायकवाड ने कहा, ‘मेरा केंद्र के बीजेपी नेताओं से अनुरोध है कि जिस व्यक्ति को राज्य के इतिहास का नहीं पता है, उसे दूसरी जगह भेजा जाना चाहिए।’ उधर, सोमवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ‘शिवाजी महाराज हमारे भगवान हैं।’

About bheldn

Check Also

नौसेना अधिकारी को इंस्टाग्राम पर 600% अधिक मुनाफा कमाने का विज्ञापन दिखाया, ठग लिए 75 लाख

मुंबई: इंस्टाग्राम पर शेयर बाजार में आकर्षक निवेश करने पर 600 गुणा अधिक मुनाफा कमाने …