हिंदी विरोध में फिर उबलेगा तमिलनाडु? शख्‍स ने खुद को लगाई आग, मौके पर ही टूटा दम

सलेम

तमिलनाडु के सलेम जिले में हैरान करने वाली घटना सामने आई है। ज‍िले में एक 85 साल के व्यक्ति ने तमिलनाडु पर हिंदी थोपने के केंद्र सरकार के कदम का विरोध करने के लिए आत्मदाह कर लिया। मृतक की पहचान मेट्टूर के पास थलाइयुर गांव के थंगावेल के रूप में हुई है। वह व्यक्ति DMK के कृषि विंग का नेता था। हालांक‍ि कुछ साल पहले उसने सक्रिय राजनीति छोड़ दी थी।

मेट्टूर पुलिस स्टेशन के अधिकारी ने बताया क‍ि करीब 11.30 बजे थंगावेल थलाइयुर स्थित पार्टी कार्यालय पहुंचे। उन्होंने पार्टी कार्यालय के सामने एक पत्र रखा। पत्र में उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को उस राज्य पर हिंदी नहीं थोपनी चाहिए जहां तमिल बोली जाती है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर छात्र हिंदी सीखते हैं तो इससे प्रभावित होंगे। इसके बाद उसने केरोसिन डालकर खुद को आग लगा ली।

मौके पर ही व्‍यक्‍त‍ि की मौत
अधिकारी ने कहा क‍ि घटना में थंगावेल की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना परतमिलनाडु के श्रम कल्याण मंत्री सी वी गणेशन और पार्टी के अन्य नेता मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को ढांढस बंधाया। एक मामला दर्ज किया गया था और आगे की पूछताछ जारी थी।

About bheldn

Check Also

जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी हमले, अनंतनाग में टूरिस्ट कपल को मारी गोली, शोपियां में BJP नेता की हत्या

श्रीनगर जम्मू कश्मीर के अनंतनाग और शोपियां में दो अलग-अलग फायरिंग की घटना सामने आई …