‘न भी पहनो तो अच्छे’ बोल घिरे बाबा रामदेव, 2011 की तस्वीर पर महुआ मोइत्रा का तंज

नई दिल्ली

बाबा रामदेव महिलाओं के पहनावे पर दिए एक बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस के सामने मंच से बाबा रामदेव ने कह दिया, ‘… मेरी तरह से कोई न भी पहने तो भी अच्छे लगते हैं।’ आंखें बंदकर मुस्कुराते हुए रामदेव ने यह बात कही और अब उनकी आलोचना शुरू हो गई है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बाबा रामदेव से अपने बयान के लिए देश से माफी मांगने को कहा है। उधर, तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा ने 2011 की घटना का जिक्र कर तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘अब मुझे पता चला कि पतंजलि बाबा रामलीला मैदान से महिलाओं के कपड़े पहनकर क्यों भाग गए थे।’ पूरे मामले के हर पहलू को जान लीजिए।

बाबा रामदेव का पूरा विवादित बयान
57 सेकेंड के वायरल वीडियो में स्पष्ट दिखाई देता है कि बाबा रामदेव कह रहे हैं, ‘… आप हैं ही बहुत खुश। खुशनसीब हैं आप। बहुत अच्छी लग रही हैं, सामने वालियों को साड़ी पहनने का मौका मिल गया, पीछे वालियों को मिला ही नहीं।’ बाबा अमृत फडणवीस की तरफ देखते हुए कहते हैं कि साड़ियां अपने झोले में रखकर ले आई थीं, वो सुबह योग किया, उसके बाद कार्यक्रम शुरू हो गया, अब दोपहर वाला शुरू हो गया, अब घर जाकर पहन लेना। इस पर सभी हंस पड़ते हैं।

आगे बाबा रामदेव कहते हैं, ‘कोई बात नहीं… आप साड़ी पहनकर भी अच्छी लगती हैं। आप सलवार सूट में भी अमृता जी की तरह अच्छी लगती हैं और मेरी तरह से कोई न भी पहने तो भी अच्छे लगते हैं।’ (यह कहकर बाबा रामदेव हंसने लगे और आगे बैठी महिलाएं हैरानी वाले भाव से एक दूसरे को देखने लगीं) वह आगे कहते हैं कि हम तो लोकलज्जा के लिए पहन लेते हैं। योगगुरु कहते हैं, ‘बच्चों को कौन पहले कपड़े पहनाता था पहले। हम तो 8-10 साल तक ऐसे ही नंगे घूमते रहते थे। ये तो अब जाकर 5-5 लेयर कपड़ों की बच्चों पर आ गई हैं।’

इसी पर TMC नेता महुआ मोत्रा ने निशाना साधते हुए कहा 2011 की घटना का जिक्र किया जब योग गुरु को महिला के कपड़े में भागते हुए पुलिस ने पकड़ लिया था। लोकसभा सांसद महुआ ने ट्वीट किया, ‘अब मैं समझ चुकी हूं कि पतंजलि बाबा महिलाओं को कपड़ों में रामलीला मैदान से क्यों भागे थे। वह कहते हैं कि उन्हें साड़ी, सलवार और… पसंद है।’ आगे उन्होंने योगगुरु के दिमाग को लेकर डिसऑर्डर की बात कही है।

बाबा रामदेव के इस बयान पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता संजय राउत ने कहा कि जब ऐसी बात उनके सामने बोली गई तो अमृता फडणवीस ने विरोध क्यों नहीं किया। राउत ने कहा, ‘सरकार चुप्पी साधे बैठी है… बीजेपी कैंपेनर रामदेव महिलाओं का अपमान कर रहे हैं।’

About bheldn

Check Also

शुरुआती 8 मैच में 7 हारने वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु प्लेऑफ में, महेंद्र सिंह धोनी का सपना टूटा

बेंगलुरु: आईपीएल 2024 के शुरुआती 8 मैचों में सिर्फ एक जीत हासिल करने वाली रॉयल …