चुनाव की क्या जरूरत है? BJP कैंडिडेट को EC जीता घोषित कर दे, आजम खान के हमले का मतलब क्या

रामपुर

आजम खान ने रामपुर विधानसभा उप चुनाव को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा है कि चुनाव आयोग को रामपुर से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार को जीता हुआ घोषित कर दिया जाए। समाजवादी पार्टी उम्मीदवार असिम रजा के पक्ष में उतरे आजम खान ने कहा कि हम इस बात के लिए पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से गुहार लगाएंगे। उन्होंने कहा कि हमें जानकारी मिली है कि अखिलेश यादव आने वाले हैं। राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी भी आएंगे। लेकिन, ये लोग किस बात के लिए आ रहे हैं? आजम ने तंज कसते हुए कहा कि यहां तो चुनाव है ही नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस लोगों को घरों से निकलने पर रोक लगा रही है। गलियों में फ्लैग मार्च हो रहे हैं। आजम ने खुले तौर पर पुलिस- प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए। सबूत होने की बात कही। अखिलेश यादव के समक्ष सबूतों को रखने की बात कही। चुनाव आयोग के समक्ष जाने की भी बात कही।

आजम खान ने आरोप लगाया कि आज ही करीब 50 घरों के दरवाजे तोड़े गए हैं। सड़कों से बेगुनाहों को उठाया गया है। जिस भाषा का इस्तेमाल किया गया है, वह शर्मनाक है। हमारी पत्नी और इस शहर की पूर्व सांसद और पूर्व विधायक को भी नहीं बख्शा गया है। यह चेतावनी दी गई है कि अपने घरों में रहो। हमारी पत्नी को वार्निंग दी गई है कि बाहर मत निकलना। आजम ने कहा कि इस प्रकार की बात और अभद्र व्यवहार किसी भी व्यवस्था को शोभा नहीं देती। उन्होंने कहा कि गालिब का हालचाल जानने हमारी पत्नी और लोग पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि उसे एक भयानक अपराधी बताया जा रहा है। उस पर यूनिवर्सिटी में मशीन की चोरी का आरोप लगाया गया है। हमारी पत्नी की मौजूदगी में उसके घर के दरवाजे तोड़ दिए गए।

अखिलेश से करेंगे ये मांग
आजम खान ने रामपुर की स्थिति को लेकर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि हम इस बात पर विचार कर रहे हैं कि जब अखिलेश यादव यहां आएंगे तो हम उनसे यह बात कहेंगे। वे चुनाव आयोग से निवेदन करें कि भारतीय जनता पार्टी के कैंडिडेट को जीता हुआ घोषित कर दिया जाए। आजम ने सवाल किया कि चुनाव की क्या जरूरत है? जब चुनाव हो ही नहीं रहा है। जिस तरह की दहशत है। गलियों में फ्लैग मार्च हो रहे हैं। खुलेआम यह कहना कि घरों से बाहर मत निकलना। अगर समाजवादी पार्टी को वोट दिया तो यह घर खाली करा दिया जाएगा। इस स्थिति में चुनाव की क्या आवश्यकता है। इसकी भी वीडियो रिकॉर्डिंग हमारे पास है। सपा अध्यक्ष के समक्ष पूरी बात रखी जाएगी।

आजम ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए आजम खान ने कहा कि करीब 250 की संख्या में पहुंचे पुलिसकर्मियों ने बीमार मां और उनके साथ लोगों के साथ शर्मनाक बर्ताव किया है। मैं नहीं चाहता था इन बातों को यहां कहा जाए। आजम ने कहा कि रामपुर लोकसभा उप चुनाव के दौरान लोगों ने इस प्रकार की स्थिति देखी है। रामपुर में मुस्लिम आबादी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि यह एक ऐसे विशेष वर्ग की अधिकता वाले लोगों का शहर है। इसलिए इसके साथ जो भी बर्ताव हो रहा है, वह हमें बर्दाश्त करना है। मेरे जैसे को तो और भी, जिसका वोट देने का अधिकार ही खत्म हो गया है।

आजम ने हमला बोलते हुए कहा कि भले ही मेरा वोट मांगने का अधिका छीन लिया गया है, लेकिन मेरे उम्मीदवार, मेरी पार्टी के उम्मीदवार के लिए वोट मांगने का अधिकार अभी मेरे पास है। उन्होंने कहा कि आरोपों को लेकर हमारे पास प्रमाण हैं। वीडियो फुटेजेज हैं। फोटो है। लेकिन, कुछ खास वजह से हम उसे रिलीज नहीं कर रहे हैं। मीडिया में चीजें आने के बाद कोर्ट उसे प्रमाण के तौर पर नहीं मानती हैं

About bheldn

Check Also

तुम्‍हें नौकरी से न‍िकलवा देंगे… रघुराम राजन को कौन दे रहा था धमकी, फ‍िर पूर्व RBI गवर्नर ने क्‍या क‍िया?

नई दिल्‍ली: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर और अब शिकागो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर …