जेल में जीता चुनाव, 10 महीने बाद रिहाई… मुस्कुराते हुए यूं कारागार से बाहर आए सपा विधायक नाहिद हसन

शामली

उत्तर प्रदेश के शामली जिले की कैराना विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन को शनिवार को 10 महीने बाद जेल से रिहा कर दिया गया। 2 माह पहले नाहिद हसन को चित्रकूट जेल में ट्रांसफर किया गया था। रिहाई भी चित्रकूट जेल से ही हुई है। दरअसल, शामली जिले की कैराना विधानसभा सीट से मौजूदा सपा विधायक नाहिद हसन को 15 जनवरी को शामली से पुलिस ने गैंगस्टर ऐक्ट सहित अमानत में खयानत और धमकी के मामले में गिरफ्तार कर लिया था।

गिरफ्तारी के वक्त वह विधानसभा सीट पर चुनाव के लिए नामांकन करने जा रहे थे। 2 माह पहले ही विधायक को मुजफ्फरनगर जेल से चित्रकूट जेल शिफ्ट किया गया था। जेल में रहते ही नाहिद हसन चुनाव जीते थे। उनकी बहन इकरा हसन ने पूरी चुनाव लड़ाया था। गैंग्स्टर एक्ट में हाईकोर्ट ने जमानत तीन दिन पहले दी थी। अमानत में खयानत और धमकी के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही जमानत दे दी थी। विधायक के समर्थक उनको लेने चित्रकूट ही पहुंच गए थे।

मुस्कुराते हुए जेल से निकले नाहिद
शुक्रवार को नाहिद के अधिवक्ताओं ने कैराना स्थित एमपी एमएलए कोर्ट में विधायक की जमानत के लिए एक-एक लाख रुपये के दो जमानतियों के प्रपत्र जमा किए। दोनों जमानतियों के प्रपत्रों की तहसील व थाने से तस्दीक कराई गई। उसके बाद कोर्ट ने विधायक की रिहाई के लिए चित्रकूट जेल अधीक्षक को कोर्ट के पैरोकार ने परवाना भेजा शनिवार को विधायक नाहिद हसन मुस्कुराते हुए जेल से बाहर आए।

इस केस में हुई थी कार्रवाई
कैराना विधायक नाहिद हसन और उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम बेगम सहित कुल 40 लोगों के खिलाफ फरवरी 2021 में कैराना कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने नाहिद हसन को 15 जनवरी 2022 को गिरफ्तार करके कैराना स्थित एमपी एमएलए कोर्ट में पेश किया था। जहां से न्यायिक हिरासत में मुजफ्फरनगर जेल भेज दिया गया था।

About bheldn

Check Also

टनल एक्सपर्ट अर्नोल्ड डिक्स ने भगवान में बताई आस्था, बाबा बौखनाग का किया पूजन

देहरादून: उत्तरकाशी के सिल्क्यारा सुरंग में आज यानी 17वें दिन कामयाबी मिल गई है। एनडीआरएफ …