आफताब को नहीं पता था जमानत याचिका दायर होगी, कोर्ट में बताया- वकालतनामा पर किए थे हस्ताक्षर

नई दिल्ली,

दिल्ली के महरौली में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉल्कर की गला दबाकर हत्या करने और उसके बाद शव के टुकड़े करने के आरोपी आफताब पूनावाला ने शनिवार को साकेत कोर्ट को बताया कि उसने वकालतनामा पर हस्ताक्षर किए थे, लेकिन उसे पता नहीं था कि उसकी ओर से जमानत याचिका दायर की जाएगी.

साकेत कोर्ट में दोपहर करीब साढ़े 11 बजे आफताब पूनावाला की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश वृंदा कुमारी के सामने पेशी हुई. इस दौरान पूनावाला ने कहा, “मैं चाहता हूं कि वकील मुझसे बात करें या फिर जमानत याचिका वापस ले लें.”

आफताब के इस बयान के बाद जज ने कहा कि जमानत अर्जी को लंबित रखा जाएगा और आरोपी के वकील से मिलने के बाद ही यह तय किया जाएगा कि याचिका पर जोर दिया जाएगा या नहीं. आफताब के वकील एमएस खान ने बताया कि वह 19 दिसंबर को उससे मिलने तिहाड़ जाएंगे.

वकील ने बताया कि उन्होंने 15 दिसंबर को याचिका दायर की थी. उसके बाद 16 दिसंबर को सुनवाई होनी थी, लेकिन पुलिस ने कह दिया कि डीएनए मैच हो गया है. कल कुछ डॉक्यूमेंट्स फाइल करने थे, इसलिए आज सुनवाई हुई. खान ने बताया कि आफताब की ओर से मेरी कंसेंट के बिना याचिका लगाई गई है. उसके बाद जज ने वेरिफाई करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पेश किया गया. उसके बाद आफताब ने कहा कि एक बार मुझसे मिल लो, मेरी बात सुन लो.

18 मई को हुई थी श्रद्धा हत्या  
पुलिस पूछताछ में आफताब ने बताया था कि उसने ही श्रद्धा की हत्या की. आफताब श्रद्धा का प्रेमी था. दोनों मुंबई के रहने वाले थे और कुछ दिन पहले ही दिल्ली में शिफ्ट हुए थे. दिल्ली में दोनों महरौली में एक फ्लैट लेकर लिव इन रिलेशन में रह रहे थे. आफताब ने बताया था कि श्रद्धा से उसका 18 मई को झगड़ा हुआ था. इसके बाद उसने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी थी. आफताब ने इसके बाद श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे. आफताब ने इस टुकड़ों को एक फ्रिज में रखा था. वह रोज रात में श्रद्धा के शव के एक टुकड़े को महरौली के जंगल में फेंकने के लिए जाता था.

दिल्ली पुलिस को मिली है बड़ी सफलता 
आफताब की जमानत को लेकर याचिका ऐसे समय में दाखिल की गी है, जब श्रद्धा मर्डर केस में जांच कर रही दिल्ली पुलिस को एक दिन पहले ही बड़ी सफलता मिली है. महरौली के जंगलों से पुलिस को जो शव के टुकड़े हड्डियों के रुप में मिले थे, वे श्रद्धा वॉल्कर के ही थे. इन शव के टुकड़ों का श्रद्धा के पिता के डीएनए से मिलान हो गया है. इतना ही नहीं डीएनए रिपोर्ट में आफताब के फ्लैट के अंदर बाथरूम और किचन से मिले खून के ट्रेसेस भी श्रद्धा से मैच कर गए.

महरौली के जंगल से मिला जबड़ा भी श्रद्धा का  
दिल्ली पुलिस ने आफताब को गिरफ्तार कर पूछताछ की थी. इसके बाद महरौली जंगल और गुरुग्राम में उसकी बताई हुई जगह से पुलिस ने शव के कई टुकड़े हड्डियों के रुप में बरामद किए थे. पुलिस को एक मानव जबड़ा भी मिला था. पुलिस ने इस सबकी जांच के लिए CFSL लैब भेजा था. इतना ही नहीं डीएनए टेस्ट के लिए पिता का सैंपल भी लिया गया था. अब श्रद्धा के पिता के डीएनए से इनका मिलान हो गया है.

About bheldn

Check Also

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का दिखने लगा असर, कांवड़ रूट पर दुकानदारों ने हटाई नेमप्लेट

नई दिल्ली, सावन का महीना शुरू हो गया है और इसी के साथ शुरू हो …