‘कलर पर कोई कॉपीराइट नहीं, विरोध बिल्कुल गलत’, पठान पर शाहरुख को मिला कुशवाहा का साथ

बेगूसराय

बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण की आने वाली फिल्म पठान का देशभर में विरोध हो रहा है। इस बीच जदयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने शाहरुख खान का समर्थन करते हुए कहा कि इस बेवजह मुद्दा बनाया जा रहा है। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि यह बिल्कुल गलत विरोध है। कोई भी कलर कोई भी यूज कर सकता है। कलर पर कोई कॉपीराइट नहीं होता है। हम लोग भी कपड़े पहनते हैं, कभी भगवा रंग के होते हैं तो कभी कपड़ों का रंग नीला हो जाता है। रंग को लेकर विवाद खड़ा करना ठीक नहीं है। भगवा की जगह अगर दूसरे कलर के पकड़े पहनकर दीपिका एक्ट करती तो उसका विरोध नहीं करते। इसलिए हमको लगता है कि सिर्फ मुद्दा बनाने के लिए विरोध किया जा रहा है। इस विरोध का कोई मतलब नहीं है।

आज एक दिवसीय दौरे पर बेगूसराय पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा ने पठान फिल्म से लेकर के पाकिस्तानी विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो की पीएम मोदी पर की गई अभद्र टिप्पणी पर भी अपनी बात रखी। साथ ही जहरीली शराब से मौत पर मुआवजा की मांग को लेकर भी विपक्ष पर हमला बोला। बिलावल भुट्टो के बयान पर कुशवाहा ने कहा कि इस तरह की बात किसी व्यक्ति के लिए क्षम्य नहीं है। चाहे भारत का व्यक्ति हो या भारत के बाहर का। प्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री होता है। बिलावल भुट्टो पाकिस्तान में एक जिम्मेदार पद पर बैठे हैं, ऐसे में वहां की सरकार को देखना चाहिए। भुट्टो का बयान बिल्कुल गलत है।

जहरीली शराब से मौत: मुआवजे की मांग पर कुशवाहा का विपक्ष पर हमला
वहीं जहरीली शराब से मौत पर मुआवजे की मांग को लेकर विपक्ष पर हमला बोलते हुए कुशवाहा ने कहा कि विपक्ष बिल्कुल फिजूल की बात कर रहा है। अब कोई व्यक्ति कानून तोड़ेगा तो क्या उसे मुआवजा दिया जाएगा। अगर कोई व्यक्ति बम बनाने लगे जो कानून रूप से गलत हो, वहां विस्फोट हो जाए और किसी की मौत हो जाए तो इस तरह की मौत के लिए मुआवजे की मांग करना कहीं से भी उचित नहीं है। विपक्ष के लोगों को चाहिए कि लोगों के बीच जागरूक करना चाहिए, शराब नहीं पीनी चाहिए। यह काम करने के बजाय विपक्ष के लोग अनर्गल राग अलाप रहे हैं।

सभी राज्यों में होती है अपराध की घटनाएं: उपेंद्र कुशवाहा
बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि अपराध सभी राज्यों में होते हैं। क्या बीजेपी शासित राज्यों में अपराध की घटनाएं नहीं होती है। घटना होने भर से सरकार के कामकाज का आंकलन नहीं हो सकता है। घटना होने के बाद सरकार किस तरह से काम करती है, स्थानीय प्रशासन किस तरह कार्रवाई करता है, यह महत्वपूर्ण है। घटना हुई होगी। कहीं भी घटना होती है, यह दुखद है। बिहार में घटना के बाद एक्शन होता है।

मृतक युवक के परिजनों से मिलने बेगूसराय पहुंचे थे कुशवाहा
दरअसल उपेंद्र कुशवाहा पिछले दिनों नीतीश कुमार का अपहरण कर हत्या करने के बाद उसके परिजनों से मिलने बेगूसराय पहुंचे थे। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने सुभाष चौक पर उपेंद्र कुशवाहा का फूल मालाओं से स्वागत किया। इस दौरान जिला अध्यक्ष रुदल राय, चंद शेखर वर्मा, अरुण महतो, समय जदयू के दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …