कोरोना: टॉस्क फोर्स, टेस्टिंग, स्क्रीनिंग… BF.7 की घेराबंदी के लिए एक्टिव हुए राज्य

नई दिल्ली,

चीन से आ रहे कोरोना के आंकड़ों ने भारत सरकार को अलर्ट कर दिया है. भारत के कई राज्यों ने अपनी अपनी तैयारी शुरू कर दी है. पूरे हालात पर नजर रखने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने एक टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा है कि पॉजिटिव सैंपल का जिनोम सीक्वेंसिंग तैयार कराएं और कोरोना से जुड़े देश दुनिया की हलचल पर निगाह बनाए रखें.  पश्चिम बंगाल ने सरकार ने भी कहा है कि राज्य की कोविड से पैदा होने वाले हालात पर नजर है और राज्य सरकार किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार है.

बता दें कि चीन में कोरोना विस्फोट के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने आज स्वास्थ्य मंत्रालय के सीनियर अधिकारियों के साथ बैठक की. मंडाविया का कहना है कि अभी करोना खत्म नहीं हुआ है. मैंने सभी संबंधित लोगों को अलर्ट कर दिया है. हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरीके से तैयार हैं. केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कहा है कि वे अपने यहां के कोरोना पॉजिटिव केस का सैंपल केंद्र की एजेंसी के पास जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए जरूर भेंजे.

कोविड पर महाराष्ट्र बनाएगा टास्क फोर्स 
कोरोना की नई चुनौतियों से निपटने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने टास्क गठित करने की घोषणा की है. महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि राज्य सरकार हालात का आकलन करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन करेगी.

महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजित पवार के सवालों का जवाब देते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कोरोना पर हम केंद्र से तालमेल बनाएंगे और जैसा कि नेता प्रतिपक्ष ने सुझाव दिया है हमलोग एक टास्क फोर्स या कमेटी का गठन करेंगे जो कि कोरोना से जुड़े हालत पर नजर रखेगी, और राज्य सरकार को सुझाव देगी इन सुझावों पर निश्चित रूप से राज्य सरकार अमल करेगी. फडणवीस ने कहा है कि राज्य सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को चौकसी के साथ कोरोना के मसले पर काम करने का निर्देश दिया है.

कोरोना पर क्या कर रही है दिल्ली?
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य विभाग को कोरोना प्रसार पर पैनी नजर रखने को कहा है. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से कहा है कि पॉजिटिव केसों के जिनोम सीक्वेंसिंग कराए जाएं और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए योजना तैयार की जाए.

बुधवार को दिल्ली सरकार के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि दिल्ली सरकार कोविड की स्थिति पर नजर रखे हुए है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद तैयारियों की निगरानी कर रहे हैं. अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे जीनोम सीक्वेंसिंग और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक अन्य कदम सुनिश्चित करें. उभरती हुई कोविड स्थिति से निपटने के लिए जो भी कदम आवश्यक होंगे, उन्हें तुरंत उठाया जाएगा. बता दें कि 2020 की शुरुआत में महामारी शुरू होने के बाद से दिल्ली में 20,07,097 कोविड मामले आए हैं और इससे 26,519 मौतें दर्ज की गई है.

कोरोना पर यूपी सरकार क्या कर रही है
कोरोना पर यूपी सरकार ने भी सतर्कता बढ़ा दी है. यूपी के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने सभी CMO को चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने एयरपोर्ट पर सतर्कता बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही विदेश की यात्रा करके लौटे लोगों का भी कोविड टेस्ट करवाया जाएगा. यूपी सरकार ने निर्देश दिया गया है कि कोरोना संक्रमण प्रभावित देश से आने वाले यात्रियों की जांच सुनिश्चित की जाए. सर्दी-जुखाम और बुखार समेत अन्य लक्षण वाले यात्रियों और बुखार जैसे लक्षणों वाले व्यक्तियों को चिन्हित किया जाए और उन्हें होम आइसोलेशन में रखा जाए.

इसके अलावा पॉजिटिव केसों का रिकॉर्ड रखा जा रहा है और उन्हें जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा जा रहा है. इस बीच राज्य सरकार ने नाइट शेल्टर में कोविड प्रोटोकॉल पालन करने का आदेश दिया है.

एक बयान के अनुसार, राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि रैन बसेरों में सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए. उत्तर प्रदेश स्थानीय निकाय निदेशालय की निदेशक नेहा शर्मा ने कहा कि नगर निगम आयुक्तों और कार्यपालक अधिकारियों को प्राथमिकता के आधार पर निर्देश जारी किये गये हैं.उन्होंने कहा कि निदेशालय के गूगल लिंक पर रैन बसेरों का विवरण नियमित रूप से अपडेट करने का निर्देश दिया गया है ताकि सभी रैन बसेरों की व्यवस्थाओं की निगरानी की जा सके.

कर्नाटक में एयरपोर्ट पर पैसेंजरों की स्क्रीनिंग
चीन, जापान और अमेरिका में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कर्नाटक सरकार ने राज्य के बेंगलुरु के केम्पगौड़ा इंटरनेशल एयरपोर्ट पर पैसेंजरों की स्क्रीनिंग करने का फैसला किया है. ये जानकारी स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने दी. के सुधाकर ने कहा है कि हमें वैश्विक स्थिति के मद्देनजर कुछ एहतियाती कदम उठाने होंगे. KIA में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की भारी आमद है. हम वहां यात्रियों की स्क्रीनिंग शुरू करेंगे.

स्वास्थ्य मंत्री ने दुनिया के कुछ हिस्सों, विशेष रूप से चीन में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के बीच लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की एहतियाती खुराक लेने की आवश्यकता पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि नए COVID-19 दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार, राज्य सरकार ने उभरते वैरिएंट पर नज़र रखने के लिए जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए पॉजिटिव नमूने भेजने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि कोरोना पर एक्शन के लिए सीएम बासवराज की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय मीटिंग की जाएगी.

पश्चिम बंगाल में भी चौकसी
कोरोना की नई लहर पर प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल सरकार के अधिकारियों ने कहा है कि राज्य किसी भी नए संक्रमण की लहर का मुकाबला करने के लिए तैयार है. राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने कहा कि संक्रमण पर नजर रखने के लिए राज्य में कोविड-19 का टेस्टिंग और मैनेजमेंट नियमित रूप से किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हम राज्य में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं. यहां चीजें नियंत्रण में हैं लेकिन हम अपने नजरिये को लेकर सतर्क हैं.

डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने बताया कि हम नियमित रूप से COVID-19 से जुड़े केस की टेस्टिंग कर रहे हैं. हमारे पास डॉक्टरों और पैरा-मेडिक की अच्छी संख्या, पर्याप्त मास्क, ऑक्सीजन की आपूर्ति और विभिन्न अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में पर्याप्त संख्या में बेड हैं, ताकि अगर स्थिति बिगड़ती है तो हम बेहतर ढंग से इसका सामना कर सकें.

About bheldn

Check Also

जो भी अपने दम पर, पिता चपरासी भी होते तो भी.. अजीत डोभाल के बेटे शौर्य का परिवारवाद पर दो टूक

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल ने उनके ऊपर …