पायलट को गले लगाकर राहुल गांधी क्या संदेश देना चाहते हैं? गहलोत ने भी शेयर की तस्वीर

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का राजस्थान का पड़ाव बुधवार को समाप्त हो गया। राहुल गांधी ने अंतिम पड़ाव पर भरी सभा में सचिन पालयट को गले से लगाया। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके चिर प्रतिंद्वद्वी माने जाने वाले सचिन पायलट को लेकर राहुल गांधी और कांग्रेस आलाकमान पिछले कुछ दिनों से सबकुछ जानते हुए भी अनजान बने हुए हैं। हालांकि सचिन पायलट के दौसा में शक्ति प्रदर्शन के बाद से कांग्रेस आलाकमान तक उनके समर्थकों का मैसेज जरूर गया होगा। लेकिन फिर आलाकमान प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए गहलोत और पायलट के बीच किसी भी टकराव की स्थिति के लिए तैयार नहीं है। शायद यही कारण है कि हरियाणा के नूंह में राजस्थान के तमाम कांग्रेस नेताओं और संगठन के पदाधिकारियों के बीच सचिन पायलट को राहुल गांधी खास तवज्जो देते दिखे।

राजस्थान में राहुल के सामने पायलट की छवि
राजस्थान में यात्रा के करीब 500 किलोमीटर के रास्ते में पायलट राहुल गांधी के साथ रहे। पायलट के गढ़ माने जाने वाले कई इलाकों में उमड़ा हुजूम भी राहुल गांधी सामने छवि बनाने वाला था। कई जगह ‘हमारा सीएम कैसा हो, सचिन पायलट जैसा हो’ और ‘आई लव यू, आई लव यू, सचिन पायलट, आई लव यू’ जैसे नारे भी लगे।

राजस्थान कांग्रेस की खींचतान पर राहुल
राहुल गांधी ने राजस्थन में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कई बार दोनों शीर्ष नेताओं को लेकर खींचतान पर बात की। जयपुर में उन्होंने कहा, ऐसा होता रहता है।

​नूंह में भी राहुल के करीब बैठे गहलोत
राजस्थान में पड़ाव खत्म होने पर बुधवार को भारत जोड़ो यात्रा हरियाणा के नूंह से शुरू हुई। यहां सभा आयोजित की गई। इसमें भी गहलोत राहुल गांधी के सबसे करीब बैठे थे।

गहलोत को भी राहुल ने गले लगाया
सचिन पायलट ही नहीं राहुल गांधी ने नूंह में अशोक गहलोत को भी गले लगाया। ये तस्वीर गहलोत ने ट्वीट कर शेयर की है। राहुल ने अपनी राजस्थान में यात्रा के दौरान जैसा संदेश दिया, वैसा ही संतुलन यहां भी करते दिखे। उन्होंने पायलट को भी गले लगाया।

यात्रा में चर्चा में रहे पायलट और उनकी जुगलबंदी
भारत जोड़ो यात्रा में सचिन पायलट हमेशा सचिन पायलट के साथ नजर आए। यहां उन्होंने समर्थकों के हुजूम से ही नहीं, पार्टी के कई बड़े नेताओं से नजदीकियों के चलते भी चर्चा में रहे। उन्होंने अपनी सर्व स्वीकार्यता वाली छवि भी पेश की।

अलवर में गहलोत-पायलट की राहुल से चर्चा में क्या?
भारत जोड़ो यात्रा के अंतिम पड़ाव पर राहुल गांधी ने अलवर के सर्किट हाउस में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ आधा घंटे बातचीत की। इसमें केसी वेणुगोपाल भी मौजूद रहे। यही वो बातचीत थी जिसका असर राजस्थान कांग्रेस की गुटबाजी पर आगामी दिनों में असर दिखने को मिलेगा।

पायलट के साथ फोटो से बड़ा संदेश
राजस्थान में अपनी यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने दोनों शीर्ष नेताओं को बराबरी पर रखा। यानी दोनों को ही ऐसा महसूस नहीं होने दिया कि राहुल गांधी दूसरे के ज्यादा करीब हैं। जैसा उन्होंने कहा, वैसा ही बुधवार को इन तस्वीरों के जरिए मैसेज देने की कोशिश की। संदेश साफ था कि राजस्थान में आगामी चुनाव जीतने के लिए दोनों का साथ जरूरी है। यदि यूंही साथ रहे तो जल्द ही ‘गुड न्यूज़’ मिलने वाली है। हालांकि ये गुड न्यूज़ अब भी कई मायनों में पहेली बनी हुई है।

About bheldn

Check Also

J-K: डोडा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, सेना ने पूरे इलाके में की घेराबंदी

डोडा, जम्मू-कश्मीर के डोडा में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ का मामला सामने …