‘समाजवादी-गांधीवादी होने का ढोंग करते हैं नीतीश’, बिहार के CM पर PK का तगड़ा अटैक

पटना

‘बिहार में शराबबंदी पूरी तरह असफल है’, चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ये टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समाजवादी और गांधीवादी होने का ढोंग करते हैं। अपनी जन सुराज पदयात्रा पर शिवहर पहुंचे प्रशांत किशोर ने गुरुवार को ये बातें कही हैं। उन्होंने कहा कि पदयात्रा के दौरान हमने देखा लोग गांव में आसानी से शराब पी रहे हैं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार के इर्द-गिर्द रहने वाले लोग ही शराब पीते हैं।

PK का सवाल- नीतीश के मंत्री-MLA छपरा क्यों नहीं जा रहे?
प्रशांत किशोर ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि नीतीश कुमार के मंत्री और अधिकारी खुद शराब पीते हैं। इसमें कोई नई बात नहीं है। उन्होंने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जब कोई शराब नहीं पी रहा तो छपरा में 70 लोगों की मौत कैसे हुई। यहां तक नीतीश कुमार के मंत्री-विधायक मृतकों के परिजनों से मिलने तक नहीं जा रहे हैं।

‘नीतीश अपनी सुविधा के अनुसार गांधीजी का इस्तेमाल करते हैं’
प्रशांत किशोर ने महात्मा गांधी का नाम लेकर नीतीश कुमार पर सियासी हमला बोला। उन्होंने सवाल किया कि नीतीश कुमार अगर आप गांधीजी को जरा भी जानते हैं तो दिखा दीजिए आखिर जहां महात्मा गांधी ने राज्य में शराबबंदी लागू करने को लेकर बात कही हो। पीके कहा कि नीतीश कुमार अपनी सुविधा के अनुसार गांधीजी का इस्तेमाल करते हैं। कभी असुविधा होती है तो बीजेपी के साथ बैठ जाते हैं, अगले दिन समाजवादी बनकर फिर लालू प्रसाद के साथ बैठ जाते हैं। प्रशांत किशोर ने कहा कि नीतीश कुमार समाजवाद का ढोंग करके, अब शराबबंदी लागू कर गांधीवादी बनने की कोशिश कर रहे हैं।

पीयूष गोयल के बयान पर प्रशांत किशोर का पलटवार
वहीं प्रशांत किशोर ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की टिप्पणी ‘इनका बस चले तो देश को बिहार ही बना दें’ पर भी पलटवार किया। हालांकि मंत्री ने बाद में अपना बयान वापस ले लिया था। बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पीके ने कहा, आज बिहारी शब्द गाली जैसा हो गया है। मंत्री को पता होना चाहिए कि बिहार ज्ञान की भूमि रही है। देवताओं को भी यहां आकर ज्ञान हुआ है। आज यहां के नेताओं ने इसे मजदूर बनाने की फैक्ट्री बना दिया है। ऐसा कहने वाले मंत्री को समझाना चाहिए कि बिहार ने संसद में एनडीए को 40 में से 39 सांसद दिए हैं।

प्रशांत किशोर ने आगे कहा, प्रधानमंत्री जब यहां आते हैं तो जनता के आगे झुकते हैं और जनता से मीठी-मीठी बातें करते हैं और वोट लेते हैं। फिर उनके मंत्री उसी बिहार का मजाक उड़ा रहे हैं। अब यह मेरी चिंता नहीं है कि मंत्री क्या कह रहे हैं, मेरी चिंता यह है कि बिहार को इतना सुंदर कैसे बनाया जाए कि कोई इसका मजाक न उड़ा सके।

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …