पेपर लीक मामला: सुक्खू सरकार का बड़ा फैसला, हिमाचल प्रदेश स्टाफ सलेक्शन कमीशन बोर्ड हुआ सस्पेंड

शिमला

हिमाचल प्रदेश की सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार ने एक भर्ती परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक मामले को लेकर सोमवार को हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग (एचपीएसएससी) के कामकाज को निलंबित कर दिया। जूनियर ऑफिस असिस्टेंट-सूचना प्रौद्योगिकी (जेओए-आईटी) भर्ती परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के मामले में एचपीएसएससी के एक कर्मचारी और पांच अन्य लोगों की गिरफ्तारी के दो दिन बाद सरकार ने यह कदम उठाया।राज्य सरकार की ओर से यहां जारी एक अधिसूचना के अनुसार यह फैसला एचपीएसएससी के कामकाज में कई तरह की अनियमितताएं मिलने के मद्देनजर लिया गया, खासकर जेओए (आईटी) पद पर भर्ती प्रक्रिया के संदर्भ में।

आदेश में कहा गया है, ‘जेओए-आईटी पद के लिए होने वाली भर्ती परीक्षा के प्रश्नपत्र के लीक होने का मामला सामने आया है, जिसके लिए जूनियर ऑडिटर और कम्यूटर ऑपरेटर के पदों से जुड़े प्रश्नपत्र के लीक होने की सूचना के बावजूद 25 दिसंबर को परीक्षा आयोजित की जानी थी। इस पद के लिए परीक्षा अब निकट भविष्य में आयोजित की जाएगी।’आदेश में कहा गया है कि आयोग की भूल-चूक ने ना केवल इसकी साख को नुकसान पहुंचाया है, बल्कि व्यापक जन हित पर भी विपरीत प्रभाव डाला है।

About bheldn

Check Also

घर में पत्नी ने की खुदकुशी तो अस्पताल में फांसी के फंदे से झूलती मिली पति की लाश

कोच्चि, केरल के कोच्चि में पत्नी की मौत के बाद एक शख्स निजी अस्पताल में …