निगम चुनाव में नहीं दिखा बीजेपी का ज्यादा दम, सड़कों पर झाड़ू लगाने वालीं गीता बनीं डिप्टी मेयर

पटना

बिहार नगर निकाय चुनाव 2022 के परिणाम सामने आ गए हैं। निगम चुनाव परिणाम में बीजेपी (BJP) का ज्यादा दम नहीं दिख सका। राज्य के कुल 17 नगर निगमों में मेयर, डिप्टी मेयर और वार्ड पार्षदों के लिए चुनाव दो चरणों में संपन्न हुआ था। वहीं शुक्रवार 30 दिसंबर को मतगणना पूरा हुआ।

17 निगमों में गया नगर निगम  को छोड़कर बाकी सभी 16 शहरों में महिलाओं ने मेयर सीट पर जीत हासिल की है। गया नगर निगम चुनाव में डिप्टी मेयर पद के लिए जीतीं 62 साल की चिंता देवी सड़कों पर झाड़ू लगाने का काम करती थीं। साल 2020 में रिटायरमेंट के बाद वह गया के केदारनाथ मार्केट में सब्जी बेचने का काम करने लगी थीं। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को 15 हजार से अधिक वोटों से हराया।

बिहार नगर निगम में कुल 17 मेयर पदों में 6 सीट बीजेपी (BJP) के खाते में आई हैं। वहीं 6 सीटों पर महागठबंधन की पार्टियों का कब्जा हुआ है। डिप्टी मेयर की सीट पर 17 में 3 बीजेपी समर्थित और पांच महागठबंधन में शामिल पार्टियों ने कब्जा किया है। नगर निगम चुनाव 2022 में मेयर की 7 सीटें ही महिलाओं के लिए रिजर्व थीं, लेकिन 16 सीटों पर उन्होंने कब्जा किया है।

Bihar के चार बड़े नगर निगम का हाल
राज्य के चार बड़े नगर निगमों में गया को छोड़कर तीन पर बीजेपी (BJP) को जीत मिली है। राजधानी पटना में मेयर पद पर बीजेपी समर्थित सीता साहू ने और डिप्टी मेयर पद पर बीजेपी समर्थित रेशमी चंद्रवंशी ने जीत दर्ज की। मुजफ्फरपुर में निर्मला साहू और भागलपुर में भी भाजपा की नेता डॉ. वसुंधरा लाल ने मेयर पद पर जीत दर्ज की है। गया में मेयर पद पर महागठबंधन  के उम्मीदवार गणेश पासवान जीतकर आए हैं।

About bheldn

Check Also

‘नीतीश का NDA में लौटना नुकसानदेह’, दीपांकर भट्टाचार्य ने JDU-BJP दोस्ती को लेकर किया बड़ा खुलासा, सियासी हलचल तय

पटना भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन के नेता दीपांकर भट्टाचार्य ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश …