लगातार 10वें महीने बना रिकॉर्ड, दिसंबर में GST से भरा सरकार का खजाना

नई दिल्ली,

लगातार दसवें महीने गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) का रिकॉर्ड कलेक्शन हुआ है. वित्त मंत्रालय ने रविवार को बताया कि दिसंबर महीने में जीएसटी कलेक्शन 1.49 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा. ये एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक है. नवंबर के महीने में जीएसटी कलेक्शन लगभग 1.46 लाख करोड़ रुपये रहा था, जो एक साल पहले की अवधि से 11 प्रतिशत अधिक था. जीएसटी से सरकार की जोरदार कमाई हो रही है.

किसका कितना हिस्सा?
मंत्रालय ने कहा कि दिसंबर 2022 के दौरान ग्रॉस जीएसटी राजस्व 1,49,507 करोड़ रुपये रहा है. इसमें केंद्रीय जीएसटी 26,711 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 33,357 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 78,434 करोड़ रुपये का हिस्सा है. दिसंबर 2022 में नियमित सेटलमेंट के बाद केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व CGST 63,380 करोड़ रुपये और SGST 64,451 करोड़ रुपये था. नियमित सेटलमेंट के रूप में 36,669 करोड़ रुपये सीजीएसटी का हिस्सा और एसजीएसटी के रूप में 31,094 करोड़ रुपये का सेटलमेंट किया गया है.

गुड्स के आयात हासिल रेवेन्यू
आईजीएसटी में गुड्स के इंपोर्ट से आई रकम (40,263) भी शामिल है. इसके अलावा सेस का हिस्सा 11,005 करोड़ रुपये का रहा है. इसमें 850 करोड़ रुपये की रकम गुड्स के आयात से हासिल हुई है. नवंबर में 7.9 करोड़ ई-वे बिल जेनरेट हुए, जो अक्टूबर में जेनरेट 7.6 करोड़ ई-वे बिल से काफी अधिक थे.

इस वित्त वर्ष में जीएसटी कलेक्शन
अक्टूबर 2022 में GST Collection 1.52 लाख करोड़ रुपये रहा था. सितंबर में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन 1,47,686 करोड़ रुपये रहा था. इस वित्‍त वर्ष 2023 की बात करें तो सितंबर में GST कलेक्शन 1.47 लाख करोड़, अगस्त में 1.43 लाख करोड़, जुलाई में 1.48 लाख करोड़, जून में 1.44 लाख करोड़, मई में 1.40 लाख करोड़ अप्रैल में सबसे ज्यादा 1.68 लाख करोड़ रुपये रहा था.

कैसे हो रहा रिकॉर्ड कलेक्शन?
मंत्रालय ने कुछ महीने पहले कहा था कि जीएसटी काउंसिल के लिए फैसले का साफ असर दिखने लगा है. जीएसटी काउंसिल ने पिछले कुछ महीनों के दौरान बेहतर अनुपालन के लिए कई उपायों की पहल की. जीएसटी का कलेक्शन उस वक्त बढ़ रहा है, जब रिजर्व बैंक लगातार रेपो रेट में इजाफा कर रहा है. दिसंबर में भी केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट नें 0.35 फीसदी का इजाफा किया था.

About bheldn

Check Also

संजीव भसीन का इस शेयर पर आया दिल, टारगेट प्राइस और स्टॉप लॉस जानिए

नई दिल्‍ली संजीव भसीन दिग्‍गज शेयर मार्केट एनालिस्‍ट और इंवेस्‍टमेंट एडवाइजर हैं। वह IIFL सिक्योरिटीज …