राहुल के टी शर्ट पहनने पर ब्रजेश पाठक- लेते हैं कौन सा विटामिन, कराऊंगा शोध

लखनऊ,

भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी का टी शर्ट पहनना कई लोगों को हैरान कर गया है. कई तरह की रिसर्च भी सामने आने लगी हैं. अब इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि वे खुद ये समझने का प्रयास कर रहे हैं कि राहुल कौन सा विटामिन लेते हैं.

ब्रजेश पाठक कहते हैं कि हम मनुष्य हैं, उनको ईश्वर ने इस तरह की प्रतिरोधक क्षमता नहीं दी है. हम लोग हर मौसम के अनुसार अपने शारीरिक प्रकृति से बचाने के लिए बनावट के अनुसार कपड़े पहनते हैं. लेकिन आज एक राष्ट्रीय समाचार पत्र में पढ़ा लिखा है कि राहुल गांधी किस प्रकार के विटामिन लेते हैं, या कोई जीवाणु हैं, यह विषय मैंने कई लोगों से चर्चा की है कि क्यों ऐसा हुआ है कि ठंड में आदमी बिना कपड़ों को कैसे घूम रहा है. मैंने चिकित्सा जगत के कई लोगों से इस बारे में बात की है.

राहुल को मनुष्य ना मानने पर पाठक बोले कि राजा महाराजा जनता से विपरीत काम करते हैं. उन्होंने यह सिद्ध कर दिया है कि वह आम इंसान नहीं है. वह राजा महाराजा की तरह ही व्यवहार करते हैं. किसी भी बड़े अधिकारी के दफ्तर में जाएं तो वह 14 डिग्री और 15 डिग्री टेंपरेचर कर बैठा रहता है जबकि 24 या 25 में भी काम चल सकता है लेकिन वह तब भी गर्मी के सूट और टाई लगाए बैठा रहता है. खुद स्वास्थ्य मंत्री होने पर बोले हमने कई चिकित्सा जगत के लोगों से बात की है कि जो हमने पढ़ा है, इतने ठंड के मौसम में जब पारा 4 डिग्री 2 डिग्री पर है, सभी लोग जैकेट और कोट पहनकर मफलर लगाकर घूम रहे हैं तो यह t shirt में कैसे घूम रहे. इस शोध की रिपोर्ट जैसे ही मेरे सामने आएगी मैं आपको बताऊंगा.

राम मंदिर मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास के शुभकामना वाले पत्र पर भी डिप्टी सीएम ने अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि वह समर्थन नहीं है, किसी भी मंदिर में किसी भी पूजा पाठ के स्थल पर आप जाओगे हमारे धर्म में परंपरा है कि हम आशीर्वाद देते हैं कि दीर्घायु हो संपन्न हो. चंपत राय की तारीफ पर बोले चंपत राय भी संत हैं उन्होंने पूरा जीवन राम मंदिर के लिए दे दिया वह संतो के बीच ऐसे पुरुष हैं जो संत की तरह ही व्यवहार करते हैं.

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव से पहले मायावती को बड़ा झटका, BSP छोड़ने की तैयारी में सभी 10 सांसद?

लखनऊ: लोकसभा चुनाव से पहले देश के सबसे बड़े सियासी सूबे उत्तर प्रदेश में पूर्व …