चंपत राय ने की राहुल गांधी की तारीफ, कहा- RSS या प्रधानमंत्री ने नहीं की भारत जोड़ो यात्रा की आलोचना

नई दिल्ली

अयोध्या स्थित श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मंगलवार को राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की सराहना की। उन्होंने कहा, एक नौजवान (कांग्रेस सांसद राहुल गांधी) इस ठंड में देश में पैदल चल रहा है, ये प्रशंसनीय है। 50 साल का एक नौजवान देश को समझ रहा और 3,000 किमी पैदल चल रहा है तो हम इसकी प्रशंसा ही करेंगे। उन्होंने पत्रकारों से कहा, “मैं तो कहता हूं कि आप सबको भी हिंदुस्तान की पदयात्रा करके भारत का अध्ययन करना चाहिए।” इससे पहले मंगलवार को राम जन्म भूमि के मुख्य पुजारी (आचार्य सत्येंद्र दास ने भी अपना समर्थन दिया था।

फैजाबाद सर्किट हाउस में मंगलवार देर शाम ट्रस्ट की बैठक में शामिल होने के बाद ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को लेकर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए चंपत राय ने कहा, “देश में पैदल चल रहे एक युवक का मैं आभार व्यक्त करता हूं, मैं उसके इस कदम की सराहना करता हूं।” राय ने कहा, “इसमें कुछ भी गलत नहीं है। मैं आरएसएस (राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ) का कार्यकर्ता हूं और आरएसएस कभी भी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की निंदा नहीं करता।”

मंगलवार सुबह दिल्ली से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को भारत जोड़ो यात्रा यूपी के गाजियाबाद में प्रवेश की थी। बुधवार सुबह यात्रा बागपत से आगे बढ़ गई। जाटलैंड के नाम से पहचाने जाने वाले बागपत और शामली में कांग्रेस की राजनीतिक पकड़ लंबे समय से कमजोर रही है। बुधवार सुबह यह उत्तर प्रदेश के शामली से गुजरते हुए पांच जनवरी की शाम पानीपत के सनौली होते हुए हरियाणा में प्रवेश करेगी।

इससे पहले सत्येंद्र दास ने कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का समर्थन करते हुए एक पत्र लिखा। इसमें उन्होंने अपनी शुभकामना दी और कहा कि वह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होना चाहते थे, लेकिन अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की वजह से इसमें हिस्सा नहीं ले सके।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी ने भी यात्रा को स्वागत योग्य बताया है। उन्होंने कहा, “भारत माता का नाम लेकर जो भी कुछ करता है कोई भी हो, हम उसकी सराहना करेंगे। उनकी यात्रा से भारत जुड़ रहा है या नहीं, ये तो नहीं पता, लेकिन राष्ट्र को जोड़ना चाहिए।”

About bheldn

Check Also

शादी कोई अक्षमता नहीं है: 60 लाख के मुआवजे के फैसले से सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दी बड़ी सीख

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की एक पर्मानेंट कमीशंड ऑफिसर …