सामने आया फिल्म ‘दृश्यम’ से भी खतरनाक कांड, मौलवी को गाड़ बना रहा था घर

पानीपत

हरियाणा के पानीपत जिले के मौलवी की फिल्मी स्टाइल में यूपी के कैराना ले जाकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान 28 साल के वसीन के रूप में की गई है। पुलिस के मुताबिक हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि उसका 65 वर्षीय उर्दू उस्ताद और साथी मौलवी ही है। जिसने पैसों के लालच में मृतक पर जींद की एक महिला के साथ गलत काम करने के आरोप लगाकर हत्या कर दी। मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब मृतक के फोन से उसके भाई के वाट्सएप पर शव की फोटो और मैसेज भेजे गए। वहीं जब शक के आधार पर पुलिस ने साथी मौलवी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने जो सच बताया वो हैरान कर देने वाला था। पानीपत पुलिस ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार की मौजूदगी में वसीन के दबे शव को एक निर्माणाधीन मकान से बरामद किया। शव का पानीपत सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे परिजनों को सौंप दिया गया।

4 दिन से लापता था वसीन
पानीपत शहर निवासी वसीन 4 दिन से लापता था। मृतक के बड़े भाई कल्लन ने बताया कि वह इमाम साहब मोहल्ला, जाटल रोड का रहने वाला है। उसका छोटा भाई 28 वर्षीय वसीन भी लकड़ी का काम करता था। जोकि 31 दिसंबर की सुबह करीब 8 बजे काम के लिए गया था। इसके बाद से वह लापता था। भाई ने बताया कि 1 जनवरी शाम 6:12 बजे वसीम के नंबर से उसके वाट्सएप पर एक मैसेज आया। जिसमें वसीम के शव की फोटो थी। उस मैसेज में लिखा था कि हम जींद से बोल रहे है। तुम्हारे भाई ने हमारी लड़की के साथ गलत काम किया था। इसलिए हमने उसे मार दिया है। वसीम ने लड़की से 7 लाख 35 हजार रुपए भी ले लिए थे। मरते हुए वसीम ने अपने भाई का नंबर दिया है। अब ये रुपए उसके भाई से वसूले जाएंगे।

काम करवाने के बहाने वसीन को कैराना ले आया दिलशाद
दिलशाद ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वसीन को काम के बहाने कैराना लेकर आया था। जबकि उसका मकसद वसीन की हत्या को अंजाम देना था। दिलशाद वसीन को कैराना में रेता वाला मोहल्ला ले गया। जहां निर्माणाधीन मकान में वहां उसे बैठा दिया। इसके बाद मौका पाकर दिलशाद ने वसीम के सिर पर कस्सी के डंडे से ताबड़तोड़ वार कर दिए। जिससे कि उसकी मौत हो गई। इसके बाद दिलशाद बेड के गद्दे का चेन वाला कवर लेकर आया। उसने वसीन के शव को इसी कवर में डालकर चेन छाती तक बंद कर थी और शव का मुंह खुला छोड़ दिया था। दिलशाद ने शव को मकान में खुदवाए गड्‌ढे में दफना दिया था।

पैसों के लालच ने दिलशाद से कराई वसीन की हत्या
पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक वसीन की हत्या का आरोपी 65 वर्षीय दिलशाद UP के कांधला का रहने वाला है। दिलशाद की करीब बीते 7 साल से वसीम के साथ जान पहचान थी। इसी पहचान के चलते दिलशाद अक्सर वसीन के घर भी आता जाता रहता था। यहां आने के दौरान दिलशाद की वसीम की किसी करीबी महिला के साथ दोस्ती हो गई थी। वहीं इस दौरान उसे इस बात की जानकारी हो गई कि वसीन की जींद निवासी एक महिला टीचर के साथ दोस्ती है। अध्यापिका ने वसीन को हाल ही में करीब साढ़े सात लाख रुपए दिए थे। बस इन्हीं रुपयों को लेकर दिलशाद की नजर गंदी थी। जिसके लालच में आए दिलशाद ने वसीन को मौत के घाट उतार दिया।

About bheldn

Check Also

‘नीतीश का NDA में लौटना नुकसानदेह’, दीपांकर भट्टाचार्य ने JDU-BJP दोस्ती को लेकर किया बड़ा खुलासा, सियासी हलचल तय

पटना भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन के नेता दीपांकर भट्टाचार्य ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश …