आज से बिहार में एक दो नहीं बल्कि तीन यात्राएं, राहुल-नीतीश-पीके की सियासी कसरत पहुंचेगी अंजाम तक?

पटना

आज से बिहार में तीन यात्राएं देखने को मिलने वाली हैं। एक तरफ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मलिकार्जुन खरगे बिहार में भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत करेंगे वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी पश्चिमी चंपारण से अपनी यात्रा की शुरुआत करने वाले हैं। वही लगभग 3 महीने पहले से चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी जन सुराज पार्टी की जमीन बनाने के लिए यात्रा पर हैं। आज कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे पटना पहुंच रहे हैं उसके बाद वह हेलीकॉप्टर के जरिए बांका जाएंगे। वहां कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। और वहां से रवाना हो जाएंगे। पार्टी के प्रवक्ता अजीत नाथ तिवारी ने बताया कि पहले दिन की यात्रा के दौरान करीब 7 किलोमीटर की यात्रा की जाएगी।

भारत जोड़ो यात्रा पहुंची बिहार
इस यात्रा के दौरान बिहार प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश कुमार सिंह, बिहार प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास, बिहार विधानसभा में कांग्रेस के विधायक दल के नेता अजीत शर्मा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, शकील अहमद सहित तमाम बड़े नेता बांका में मौजूद रहेंगे। असित नाथ तिवारी ने बताया कि यह यात्रा 20 जिलों से होकर गुजरेगी। जिसमें करीब 12 सौ किलोमीटर का सफर तय किया जाएगा मिली जानकारी के अनुसार इसमें किसी अन्य पॉलिटिकल पार्टी को शामिल नहीं किया जाएगा। तिवारी का कहना है कि इस यात्रा के दौरान करीब 5 लाख से अधिक लोग भारत छोड़ो यात्रा के दौरान शामिल होंगे। हालांकि इस यात्रा में राहुल गांधी कब शामिल होंगे इसकी तारीख अभी तय नहीं की गई है। मगर पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने एनबीटी से बातचीत के दौरान इस बात की जानकारी जरूर दी है कि राहुल गांधी भी बिहार में होने वाली भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे। अखिलेश प्रसाद सिंह ने बताया था कि राहुल गांधी पटना आएंगे उनकी कोशिश सोनिया गांधी को भी पटना के गांधी मैदान में आमंत्रित करने की है।

बिहार में कांग्रेस को मजबूत करने की कोशिश
बताते चलें कि नए प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंके हुए हैं। क्योंकि यह यात्रा उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद आयोजित की जा रही है और माना जा रहा है कि वह इस यात्रा को सफल बनाकर बिहार में अपनी स्थिति को और मजबूत करने की कोशिश करेंगे। बताते चलें कि पिछले पांच-छह सालों से बिहार में कांग्रेस की स्थिति लगातार कमजोर हो रही थी। अखिलेश प्रसाद सिंह के आने के बाद यह उम्मीद जताई जा रही है कि बिहार में कांग्रेस का विस्तार बढ़ेगा। इस बीच यदि राहुल गांधी और सोनिया गांधी को भी अखिलेश सिंह पटना बुलाने में सफल होते हैं तो यकीनी तौर पर आगामी चुनाव में इसका असर देखने को मिलेगा।

गांधी मैदान में कांग्रेस करेगी बड़ी रैली का आयोजन
नए प्रदेश अध्यक्ष ने इस बात का ऐलान किया है कि वह जल्द ही राहुल गांधी को बिहार की धरती पर बुलाएंगे और पटना के गांधी मैदान में एक बड़ी रैली का आयोजन करेंगे। एनबीटी से हुई बातचीत के दौरान अखिलेश प्रसाद सिंह ने इस बात की जानकारी दी थी की पटना के गांधी मैदान में एक बड़ी रैली का आयोजन किया जाएगा। जिसमें राहुल गांधी शामिल होंगे। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी थी कि यदि राहुल किसी वजह से नहीं आ पाए तो सोनिया या प्रियंका गांधी में से कोई एक जरूर इस रैली का हिस्सा बनेंगे।

About bheldn

Check Also

गुजरात में पकड़ी गई 1400 करोड़ रुपये की ड्रग्स, पकड़े गए 5 विदेशीस्मगलर, पाकिस्तान से जुड़ रहा कनेक्शन

नई दिल्ली  नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने नौसेना और गुजरात एटीएस के साथ मिलकर ड्रग्स …