‘भारत जोड़ो’ की भावना का सम्मान लेकिन मंशा…. राहुल को संतों के ‘आशीर्वाद’ के बाद CM योगी ने उठाए सवाल

लखनऊ

राहुल गांधी को भारत जोड़ो यात्रा के लिए अयोध्या के संतों का आशीर्वाद मिला है लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस की ‘नीयत’ पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने मुंबई में एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत में किसी को भी कार्यक्रम आयोजित करने की आजादी है और हमें हर किसी की भावना का सम्मान करना चाहिए। भारत जोड़ो यात्रा पर योगी ने कहा कि सवाल है कि इसे लेकर उनकी महत्वाकांक्षा और मंशा क्या है? अगर आप जोड़ने की बात करते हैं तो वह आपके काम और बयानों में भी झलकना चाहिए।

योगी से पहले अयोध्या के संत सत्येंद्र दास से लेकर विहिप के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की तारीफ की थी। चंपत राय ने तो यह भी कह दिया था कि प्रधानमंत्री से लेकर संघ तक, किसी ने भी यात्रा की आलोचना नहीं की है। इन सबके बीच योगी आदित्यनाथ ने भी भारत जोड़ो यात्रा की भावनाओं का सम्मान करने जैसा बयान दिया है।

मुंबई में योगी आदित्यनाथ ने इसे लेकर कहा कि सभी को कार्यक्रम आयोजित करने की आजादी है और हमें लोगों की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए लेकिन सवाल यह है कि उनकी (राहुल गांधी) की मंशा और महत्वाकांक्षा क्या है? अगर आप जोड़ने की बात कर रहे हैं तो यह आपके काम और बयानों झलकना चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसा कि पीएम मोदी कहते हैं कि बीजेपी के लिए देश पहले आता है और हम देश को पार्टी से ऊपर रखते हैं लेकिन कई लोगों के लिए पार्टी देश से ऊपर है।

योगी ने कहा, ‘अगर आप तवांग की घटना और कुछ अन्य मुद्दों को देखें तो जिस तरह के बयान (राहुल गांधी की ओर से) दिए गए, मुझे लगता है कि ये बयान देश को जोड़ने के लिए नहीं थे बल्कि विभाजन को बढ़ाने के लिए और दुश्मनों को प्रोत्साहित करने के लिए थे। हमें ऐसा करने से बचना चाहिए थे।’

बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा के लिए सत्येंद्र दास ने राहुल गांधी को अपना आशीर्वाद दिया था। इस बारे में विहिप नेता चंपत राय से प्रतिक्रिया मांगी गई थी, तो उन्होंने कहा कि किसने यात्रा की आलोचना की है। मैं आरएसएस का कार्यकर्ता हूं और संघ ने यात्रा की आलोचना नहीं की है। क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यात्रा की आलोचना की है? सत्येंद्र दास के अलावा हनुमानगढ़ी मंदिर के पुजारी ज्ञानदास के उत्तराधिकारी संजय दास ने कहा कि उनके गुरू को भी कांग्रेस से निमंत्रण मिला था लेकिन वह फिलहाल गंगासागर में हैं। उन्होंने निमंत्रण का जवाब लिखने के लिए कहा था और राहुल गांधी को अपना आशीर्वाद भेजा था।

संजय दास ने कहा कि गुरुदेव का आशीर्वाद राहुल गांधी के साथ है। देश को एक करने के उद्देश्य के लिए यात्रा निकालने में कोई बुराई नहीं है। उन्होंने आशीर्वाद मांगा तो उन्हें आशीर्वाद दिया गया। राम मंदिर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने कहा कि जो भी भगवान राम का नाम लेगा, भारत माता का नाम लेगा, हम उसकी सराहना करेंगे और कहेंगे कि भगवान राम उन्हें प्रेरणा दें ताकि राष्ट्र एकजुट और सक्षम रहे।

About bheldn

Check Also

सीएम की बात नहीं मान रहे केके पाठक… विपक्ष ने खोला ACS के खिलाफ मोर्चा तो झल्ला गए नीतीश

पटना बिहार शिक्षा विभाग की ओर से जारी एक लेटर को लेकर बिहार में सियासी …