भारत से पंगा लेने पर PCB को करारा जवाब, ACC ने कर दी बोलती बंद

नई दिल्ली,

एशियन क्रिकेट काउंसिल (ACC) के अध्यक्ष जय शाह ने गुरुवार (5 जनवरी) को ही एशिया कप और अगले दो साल (2023-24) का शेड्यूल जारी किया है. इस पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) को काफी बुरा लगा था. पीसीबी के अध्यक्ष नजम सेठी ने जय शाह के ट्वीट पर ही रिप्लाई करते हुए यह बात जाहिर की थी.  नजम सेठी ने आरोप लगाया कि जय शाह ने बिना किसी सलाह या बातचीत के एकतरफा फैसला लेकर यह शेड्यूल जारी किया है. पाकिस्तानी बोर्ड को सबसे ज्यादा बुरा इस बात का लगा है कि एशिया कप की मेजबानी उसी के पास है और उस टूर्नामेंट को लेकर भी पीसीबी से बात नहीं की गई.

शेड्यूल के बारे में पाकिस्तान को बता चुका एसीसी
मगर अब एशियन काउंसिल ने नजम सेठी के इन आरोपों का करारा जवाब दिया है. जवाब भी ऐसा कि शायद अब नजम सेठी कुछ बोल ही नहीं पाएंगे. एसीसी ने अपने बयान में साफ कहा है कि यह शेड्यूल डेवलपमेंट कमेटी एंड फाइनेंस एंड मार्केटिंग कमेटी की मीटिंग में पास हो चुका है.इसके बाद सभी सदस्य देशों को ई-मेल के जरिए भी इसकी जानकारी दी गई थी. एसीसी ने बताया कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को भी 22 दिसंबर 2022 को एक ई-मेल के जरिए यह जानकारी दी थी. मगर उनकी ओर से कोई सुझाव या जवाब नहीं आया. इसके बाद नियम के तहत ही जय शाह ने यह शेड्यूल जारी किया है.

क्या कहा था पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी?
जय शाह ने ट्वीट करके शेड्यूल जारी किया था. इसी पर जवाब देते हुए नजम सेठी ने ट्वीट किया था, ‘एसीसी संरचना और कैलेंडर 2023-24 को एकतरफा रूप से पेश करने के लिए जय शाह का धन्यवाद. विशेष रूप से एशिया कप 2023 के लिए जिसका होस्ट पाकिस्तान है. जब आप इससे जुड़े हैं तो आप हमारे पीएसएल 2023 के संरचना और शेड्यूल को भी प्रस्तुत कर सकते हैं.’

एसीसी ने सेठी के बयान को निराधार बताया
ACC ने अपने बयान में कहा, ‘यह हमारी जानकारी में आया है कि पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी ने कहा है कि एसीसी अध्यक्ष ने एकतरफा फैसला लेकर अगले दो साल का कैलेंडर तैयार किया और उसे जारी किया है. एसीसी स्पष्ट करना चाहता है कि बोर्ड ने एक निर्धारित प्रोसेस के तहत ही यह किया है. यह कैलेंडर डेवलपमेंट कमेटी एंड फाइनेंस एंड मार्केटिंग कमेटी की मीटिंग में पास हो चुका है. यह मीटिंग 13 दिसंबर 2022 को हुई थी.’

बोर्ड ने कहा, ‘कैलेंडर को लेकर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) समेत बाकी सभी सदस्यों देशों को ई-मेल के जरिए सूचित भी किया था. यह ई-मेल 22 दिसंबर 2022 को किए गए थे. कुछ सदस्यों देशों ने रिप्लाई किया और सुझाव भी दिया था. मगर पीसीबी की ओर से कोई सुझाव या कमेंट नहीं आया. ऐसे में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नजम सेठी का बयान निराधार है और एसीसी इसका खंडन करता है.’

About bheldn

Check Also

6 गेंदों में 20 रन… कीवी बल्लेबाजों ने ग्लेन मैक्सवेल को खूब कूटा, उन्हीं के अंदाज में पिलाया कड़वा घूंट

वेलिंग्टन न्यूजीलैंड ने विश्व विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम का विध्वंसक अंदाज में स्वागत किया है। पहले …