गोंडवाना मातृशक्ति ट्रायबल फाउंडेशन ने मनाया पौष पूर्णिमा छेर-छेरा पाबुन त्यौहार

– समाज के सभी वर्ग के लोग हुये शामिल

भोपाल

गोंडवाना मातृशक्ति ट्रायबल फाउंडेशन के तत्वावधान में छेर-छेरा पाबुन त्यौहार बड़ा देव स्थान डी सेक्टर बरखेड़ा भेल में अनूसूचित जन जाति समाज(ट्रायबल )ने धूमधाम एवं उत्साह के साथ मनाया । कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कृष्णा गौर विधायक अति विशिष्ट अतिथि आरके सिंह , कार्यक्रम की अध्यक्षता निर्मला ठाकुर ,आमंत्रित अतिथि अपर महाप्रबंधक भेल एमके भगत ,पार्षद शिक्ति राव ,उप प्रबंधक मनाव संसाधन भेल उमेश मरावी ,गोंड समाज इकाई भोपाल विजय सिंह वट्टी, पूर्व अध्यक्ष(आ. सेवा मंडल) एमएस ठाकुर , आदिवासी हल्बा समाज एनआर भुवारया , प्रतिभाशाली बच्चे विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित थे ।

गौरतलब है कि यह त्यौहार नई फसल आने की खुशी में छत्तीसगढ़ राज्य में पौष पूर्णिमा को धूमधाम हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है यह मुख्य रूप से बच्चो का त्यौहार है बच्चे एक दूसरे के घर जाकर छेर-छेरा बोल गीत गाकर नृत्य करते हैं फिर उन्हें छेर-छेरा (दान-पुन) देते हैं दान में अनाज, मिलता है उसको कैसे कूटा जाता है कैसे पीसा जाता है और समाज में कैसे परोसें जातें है इन सब का महत्व बच्चों को बताया जाता है ताकि भविष्य में बच्चे अपने इन सांस्कृतिक मूल्यों के साथ अपने भावी जीवन में आगे बढ़ें और आत्मनिर्भर बने।

कार्यक्रम में स्वाति मर्सकोले ,कुपाड़-दिव्यांश मरकाम ,नेहा मंडावी ,अंजली उइके ,शशांक मरावी ,सुजाता कुंजाम ,लिखेश्वरी सिदार , प्रेम लता ध्रुव , उर्मिला नेटी , कंचन मरकाम , सविता मरावी , पिंकी मरावी , रजनी मरावी , आशा ध्रुवे ,सुलोचना नेताम , राधा उइके समिति के विशेष सलाहकार सुरेश मरकाम वरिष्ठ उपप्रबंधक भेल , नरेंद्र नेटी , वरिष्ठ उपप्रबंधक बीएस नेताम , राजेन्द्र उइके ,महेश मरावी ,सुरेश मरावी, डॉ.सतीश मरावी ,राजकुमार इड़पाची ,दीपक मंडावी , पेन ठाना भुमका गैंदसिग सिधार ,राजेन्द्र धु्रवे ,एसएस परते ,अजीत तेकाम ,संतोष मस्कोले , मीना भलावी , गिरिजा कडयि़ाम ,भगवती मरावी ,डॉ इंदु जगत , रेणु मरावी , रेखा उइके , पार्वती इड़पाची , यशवंती तेकाम , डॉ. वंदना ठाकुर , पुष्पा मंडावी ,फिरो ठाकुर समाज जनों मौजूद थे।

About bheldn

Check Also

जय ओंकार भिलाला समाज संगठन का सम्मेलन आज

भोपाल भोपाल का वार्षिक स्नेह सम्मेलन रविवार प्रात: 11 बजे से मानस भवन, गुफा मंदिर …