धर्मगुरु से आशीर्वाद, फॉर्म टॉप क्लास, विराट कोहली की नए साल में शुभ शुरुआत

गुवाहाटी

विराट कोहली के लिए बीता कुछ समय उतार-चढ़ाव भरा रहा। रनमशीन कहलाए जाने वाले खिलाड़ी का बल्ला शतक उगलना बंद कर चुका था। लगभग हर मैच में शुरुआत अच्छी मिलती, लेकिन दाएं हाथ का यह बैटर उसे बडे़ स्कोर में तब्दील नहीं कर पाता। ऐसा कभी नहीं हुआ कि चीकू रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हो या खराब तकनीक में फंस रहे हो, लेकिन फैंस उस दबदबे को मिस कर थे, जिसके लिए कोहली जाने जाते हैं। बांग्लादेश में जब पिछले साल 99 गेंद में 114 रन कूटे तो 1020 दिन बाद वनडे शतकों का सूखा खत्म किया था। अब नए साल की ‘शुभ शुरुआत’ की है। साल 2023 के पहले ही मैच में सेंचुरी ठोकी है। लगातार दो एकदिवसीय शतक लगाए। टीम इंडिया को जीत का रास्त दिखाया।

वृंदावन से नए साल की शुरुआत
विराट कोहली मैदान पर जितने मेहनती हैं। ऑफ द फील्ड उतने ही धार्मिक। नए साल में उन्होंने सपरिवार वृंदावन स्थित स्वामी प्रेमानंद जी महाराज के आश्रम में श्री ह‍ित प्रेमानंद गोविंद शरण जी महाराज के दर्शन किए थे। नन्‍हीं बेटी वामिका और पत्नी अनुष्का संग आशीर्वाद लिया था। इससे पहले भी नवंबर में उत्तराखंड में मौजूद बाबा नीम करोली आश्रम पहुंचे थे। विराट अजमेर शरीफ दरगाह पर चादर चढ़ा चुके हैं। दलाई लामा से भेंट कर चुके हैं। वह हर धर्म की बराबर इज्जत करते हैं।

किस्मत का मिला साथ
श्रीलंका के खिलाफ मंगलवार को पहले वनडे में विराट ने अपना 45वां शतक पूरा किया। 87 गेंद में 113 रन की पारी में किस्मत ने भी पूरा साथ दिया। दो-दो कैच छूटे। 52 और 81 रन के स्कोर पर जीवनदान मिले। अपनी शतकीय पारी में 12 चौके और एक छक्का जड़ा। अब वह महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के वर्ल्ड रिकॉर्ड 49 शतक से सिर्फ चार सेंचुरी दूर हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट में कोहली के नाम अब 73 शतक हो गए हैं। टेस्ट क्रिकेट में 27 जबकि एक सेंचुरी टी-20 इंटरनेशनल में भी जड़ी है।

अब बस वर्ल्ड कप दिला दो
सपाट पिच पर विराट को श्रीलंका के तेज गेंदबाजों के खिलाफ कोई परेशानी नहीं हुई। पूर्व भारतीय कप्तान ने मैदान के हर कोने में शॉट खेले। अब भारतीय फैंस यही चाहेंगे कि विराट कोहली अपने इस फॉर्म को बरकरार रखें क्योंकि 50 ओवर का वर्ल्ड कप इसी साल भारत में ही अक्टूबर-नवंबर में होना है। इन 10 महीनों में एशिया कप छोड़कर 15 एकदिवसीय मुकाबले होने हैं। कम से कम कोहली के फैंस तो यही चाहेंगे कि विराट का बल्ला इसी तरह रन उगलता रहे और भारत 2011 के बाद दूसरी और कुल तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बने।

About bheldn

Check Also

मेरे को क्या दिखा रहा… DRS के बीच रोहित स्क्रीन पर खुद को देख कैमरामैन पर क्यों भड़के?

रांची भारतीय कप्तान रोहित शर्मा शुक्रवार इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन …