राज्यपालों का इस्तेमाल कार्यकर्ताओं की तरह कर रही है बीजेपी, कांग्रेस अध्यक्ष खरगे ने लगाया आरोप

नई दिल्ली

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने बुधवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी राज्यपालों का उपयोग कार्यकर्ताओं की तरह कर रही हैउन्होंने तमिलनाडु विधानसभा में हाल के घटनाक्रम का हवाला देते हुए भाजपा पर प्रहार किया। खरगे ने ट्वीट किया, ‘राज्यपालों को संविधान के दायरे में रहकर काम करना होता है और वे विधायिका का अपमान नहीं कर सकते। लेकिन वे दिल्ली के अपने आकाओं द्वारा संचालित किये जा रहे हैं ताकि भाजपा विरोधी दलों के शासन वाले राज्यों में राजनीतिक अस्थिरता (उत्पन्न) हो सके। यह खतरनाक बात है।’

संविधान का खुला उल्लंघन का आरोप
उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा राज्यपालों का इस्तेमाल कार्यकर्ताओं की तरह कर रही है और संविधान का खुला उल्लंघन किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि गत सोमवार को तमिलनाडु के राज्यपाल आर. एन. रवि ने विधानसभा में न सिर्फ अपने अभिभाषण का कुछ हिस्सा नहीं पढ़ा बल्कि उन्होंने कुछ और टिप्पणियां भी कीं, जिसके बाद मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने लिखित भाषण से इतर कही गई बातों के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया।

कश्मीरी पंडितों के मुद्दे पर सुनाया था
इससे पहले मंगलवार को खरगे ने कश्मीरी पंडितों के मुद्दे पर भी बीजेपी को घेरा था। कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया था कि जम्मू-कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ‘इस्तेमाल करो, त्यागो और धोखा दो’ वाली नीति कश्मीरी पंडितों की पीड़ा के लिए जिम्मेदार है। उन्होंने ट्वीट किया था कि कश्मीरी पंडित कर्मचारी 245 से अधिक दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं, जीवन के अधिकार और नये स्थान पर बसाने की मांग कर रहे हैं। उनका महीनों का वेतन बकाया है, उनकी सुरक्षा के साथ समझौता हो रहा है। खरगे ने आरोप लगाया था कि भाजपा की ‘इस्तेमाल करो, त्यागो और धोखा दो’ वाली नीति कश्मीरी पंडितों की पीड़ा के लिए जिम्मेदार है।

About bheldn

Check Also

बॉर्डर बंद, सड़कों पर ट्रैक्टर… भारत ही नहीं यूरोप में भी किसान कर रहे प्रदर्शन, पोलैंड-ग्रीस के किसानों की ये है डिमांड

पेरिस भारत में किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) समेत अन्य मांगों के लिए एक बार …