लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर मिले यूरेनियम का ईरान से कनेक्‍शन, ब्रिटेन और पूरे यूरोप को दहलाने की बड़ी साजिश!

लंदन

लंदन के हीथ्रो इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मिले यूरेनियम पैकेज ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। यूके से लेकर अमेरिका तक एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। यूरेनियम यानी परमाणु हमला करने वाला सबसे खतरनाक हथियार। यह वह खतरनाक पदार्थ है जिससे परमाणु बम बनाया जाता है। ऐसे में लंदन के सबसे बिजी एयरपोर्ट पर इसका मिलना अपने आप में डराने वाला है। साफ है कि आतंकी यूरोप को दहलाने की बड़ी साजिश कर रहे हैं। वहीं इस घटना के बाद ुसुरक्षा एजेंसियों का ध्‍यान ईरान की तरफ भी गया है।

ईरान में सक्रिय स्‍लीपर सेल्‍स
ईरान दुनिया का वह देश है जहां पर आतंकियों की उन स्‍लीपर सेल्‍स को आज भी जगह मिली हुई है जो बॉम्बिंग्‍स, हत्‍याओं और यहां तक सांसदों को उड़ाने तक की साजिश करते हैं। ईरान की तरफ इशारा करने वाले कई आतंकी यूरोप और अमेरिका में गहराई तक अपनी जड़ें जमा चुके हैं। एजेंसियों की मानें तो ये आतंकी किसी भी समय तेहरान से ऑर्डर मिलने के बाद अपने काम को अंजाम देने से पीछे नहीं हटेंगे। ब्रिटिश अखबार द सन ने लिखा है कि इस घटना के बाद जो बात सबसे ज्‍यादा परेशान करने वाली है कि आखिर यूरेनियम पैकेज लंदन तक कैसे पहुंचा?

आतंकी गतिविधियां हुईं तेज
अखबार की मानें तो साफ ह कि कहीं न कहीं यूके में मौजूद ईरान के नागरिक डर्टी बम बनाने की फिराक में हैं। यह भी हो सकता है कि वो बड़े पैमाने पर यूके में हत्‍याओं की साजिश कर रहे रहे हैं। बताया जा रहा है कि यह अघोषित परमाणु पदार्थ पाकिस्‍तान से आया और फिर ओमान से आने वाली फ्लाइट के जरिए यहां तक पहुंचा है। ईरान में इस समय बड़े स्‍तर पर प्रदर्शन हो रहे हैं। ऐसे में जो कुछ भी हीथ्रो एयरपोर्ट पर हुआ है, वह चौंकाने वाला है। ईरान का विपक्षी ग्रुप पीपुल्‍स मुजाहिद्दीन ऑर्गनाइजेशन ऑफ ईरान (PMOI) जो देश में सत्‍ता पलटने की मांग कर रहा है, उसका कहना है कि ईरान ने आतंकी गतिविधियों को तेज कर दिया है।

आतंकियों के निशाने पर यूरोप
संगठन की तरफ से चेतावनी दी गई है कि देश में एक पूरा नेटवर्क चल रहा है जो पूरी दुनिया में अपने मकसद को अंजाम देने में लगा है। संगठन का मानना है कि यह नेटवर्क दिन पर दिन मजबूत हो रहा है और कई हिस्‍सों में अपनी जड़े जमा चुका है। संगठन ने मध्‍य पूर्व (Middile East) का नाम खासतौर पर लिया है। संगठन की मानें तो इन आतंकियों ने पश्चिम में कई आतंकी हमलों को अंजाम दिया है जिसमें यूके, फ्रांस, जर्मनी, बेल्जियम और इटली जैसे देश शामिल हैं। एक हफ्ते पहले ही जर्मनी में दो ईरानी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था। ये दोनों साइनायड औेर रिसिन की मदद से देश को दहलाने की साजिश कर चुके थे।

About bheldn

Check Also

हेल्पर के लिए बुलाकर भारतीयों से रूस में छीना गया पासपोर्ट, जंग लड़ने को किया मजबूर

नई दिल्ली, यूक्रेन से जंग लड़ रहे रूस से एक भयावह रिपोर्ट सामने आ रही …