‘बीजेपी के लोग हमें शूद्र मानते हैं’, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का हमला

लखनऊ,

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग हम सबको शूद्र मानते हैं. हम उनकी नजर में शूद्र से ज्यादा कुछ भी नहीं है. अखिलेश ने कहा कि बीजेपी को यह तकलीफ है कि हम संत-महात्माओं से आशीर्वाद लेने क्यों जा रहे हैं.

दरअसल, अखिलेश यादव लखनऊ में गोमती नदी के किनारे मां पीतांबरा मंदिर में चल रहे मां पीतांबरा 108 महायज्ञ में शामिल होने पहुंचे थे. इस दौरान अखिलेश यादव का हिंदू महासभा, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ ही हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने विरोध किया और जमकर नारेबाजी की. साथ ही अखिलेश को काले झंडे भी दिखाए.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने यहां गुंडे भेजे थे, बीजेपी धर्म की ठेकेदार नहीं हो सकती है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के गुंडों ने हम पर हमला किया. इसके लिए प्रशासन ने पहले ही यहां से पुलिस और पीएसी हटा ली थी. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि बीजेपी के लोग याद रखे कि उनके लिए भी इसी तरह की व्यवस्था होगी.

‘आज समझ आया मेरी सिक्योरिटी क्यों कम की गई’
सपा अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी को लोग किसी के साथ कोई भी दुर्व्यवहार कर सकते हैं. आज मैं समझ सकता हूं कि मेरी NSG क्यों हटाई गई, सिक्योरिटी क्यों कम की गई. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने स्वामी प्रसाद मौर्य से मैंने कहा है कि जातिगत जनगणना के मुद्दे पर आगे बढ़ें. सपा अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा कि आज भी कुछ लोग ‘मंदिर-प्रवेश’ का अधिकार हर किसी को नहीं देना चाहते हैं. सच तो ये है कि जो किसी को मंदिर जाने से रोके, वो अधर्मी है क्योंकि वो धर्म के मार्ग में बाधा बन रहा है.

‘अभी भी गुंडे मेरे पीछे घूम रहे’
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अभी भी गुंडे मेरे पीछे घूम रहे हैं, लेकिन हम समाजवादी लोग हैं. गुंडों से घबराने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग दलित को शुद्र मानते हैं. बीजेपी के लोग हम सबको शुद्र मानते हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोगों को इस बात की तकलीफ है कि हम गुरु और संतों से आशीर्वाद लेने क्यों जा रहे हैं.

स्वामी प्रसाद मौर्य पर ये बोले अखिलेश
अखिलेश यादव ने स्वामी प्रसाद मौर्य से कुछ ही देर पहले हुई मुलाकात को लेकर सवाल के भी जवाब दिए. सपा प्रमुख ने कहा कि मैंने स्वामी प्रसाद मौर्या से कहा है कि वे जाति आधारित जनगणना को लेकर आंदोलन में आगे बढ़ें. हालांकि, अखिलेश यादव ने रामचरितमानस को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर कुछ नहीं कहा.

सपा अध्यक्ष से मुलाकात के बाद क्या बोले स्वामी प्रसाद?
अखिलेश यादव ने स्वामी प्रसाद मौर्य को मिलने के लिए लखनऊ स्थित सपा कार्यालय में तलब किया था. अखिलेश यादव और स्वामी प्रसाद मौर्य की ये मुलाकात काफी देर तक चली थी. शुरू में कहा जा रहा था कि स्वामी प्रसाद के रामचरितमानस पर बयान को लेकर अखिलेश उनसे नाराज हैं. लेकिन स्वामी प्रसाद ने इसे खारिज किया, साथ ही कहा कि अखिलेश यादव से उनकी जातिगत जनगणना समेत कई मुद्दों पर बात हुई है.

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …