बंद पड़ी खदान उगल रही डेड बॉडी, अब तक 7 शव मिलने से हड़कंप

शहडोल,

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के धनपुरी इलाके में SECL (साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड) की बंद हो चुकी खदानें 7 युवकों की कब्रगाह बन गईं. 26 जनवरी की रात मिली सूचना के बाद चलाए रेस्क्यू ऑपरेशन में 4 युवकों की लाश निकाली गई थीं. बाहर पहरेदारी कर रहे जीवित बचे युवक ने अब बताया कि वे लोग दो टीम बनाकर अलग-अलग जगह से खदान में घुसे थे. एक टीम में उसे मिलाकर 5 और दूसरे रास्ते से 3 लोग खदान में कबाड़ चोरी करने दाखिल हुए थे.

4 युवकों के शव मिलने के बाद इलाके में यह बात तेज़ी से फैल गई. चचाई के 2 और अनुपपुर का रहने वाला एक युवक जो कबाड़ चोरी करते थे, वो भी दो दिन से घर नहीं लौटे थे. जिनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट परिजनों ने थाने में कर रखी थी. परिजनों की शंका और जीवित बचे युवक के बताने के बाद फिर से SECL की रेस्क्यू टीम ने दूसरे रास्ते पर भी तलाशी अभियान चलाया जहां 5 घंटे की मशक्कत के बाद तीन लाशें और निकाली गईं.

दरअसल, कोल इंडिया के अंतर्गत कार्य करने वाली SECL शहडोल और अनुपपुर जिले में कोयला उत्खनन का काम करती है. अंडरग्राउंड माइंस से कोयला निकालने के बाद उनके मुहाड़ों (खदान में दाखिल होने का स्थान ) को बंद किया जाता है. खदानों को बंद करने के कार्य को माइंस क्लोजर प्लान के तहत किया जाना चाहिए. जिसमें खदानों को रेत से भर कर कंक्रीट से पैक किया जाता है, लेकिन SECL प्रबंधन मुहाड़ों पर सिर्फ एक दीवार बनाकर खदानें बंद कर देता है. ऐसी ही बंद पड़ी खदानों में पड़े अनुपयोगी मशीनों से लोहा या कबाड़ चोरी करने स्थानीय युवक घुसते हैं. नशे के आदी ये युवक थोड़े से पैसों की लालच में अंधेरी दमघोंटू खदानों में स्क्रैप चोरी करने अपनी जान खतरे में डालते हैं. जानकारी के बावजूद SECL प्रबंधन इन खदानों में चोरी रोकने कोई प्रयास नहीं करती है.

26 जनवरी की रात आदतन चोरी करने वाले 8 युवकों का समूह बंद हो चुकी धनपुरी यूजी खदान में कबाड़ चोरी करने के उद्देश्य से पहुंचा. खदान के एक मुहाने से 5 युवक और दूसरे मुहाने से 3 युवक खदान के अंदर घुसे. पहले समूह के पांच में से एक युवक बाहर आकर पहरेदारी करने लगा. जब काफी देर हो जाने के बाद उसे अंदर गए दोस्तों की कोई आहट नहीं मिली तो उसने पूरी बात घर आकर बताई. पुलिस तक ख़बर पहुंचने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन में पहले 4 और अब 3 शव बरामद हुए.

शहडोल एसपी कुमार प्रतीक ने बताया कि संकरी अंधेरी खदान में दम घुटने से युवकों की मौत हो गई. युवकों को लालच देकर कबाड़ चोरी कराने वाले कुछ कबाड़ियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं SECL प्रबंधन के ऊपर भी लापरवाही के चलते FIR दर्ज की गई है.

About bheldn

Check Also

क्या TRP ‘गेम जोन’ पर मेहरबान थे अफसर? BJP नेता वजुभाई वाला ने बताया क्यों हुआ हादसा?

अहमदाबाद गुजरात के राजकोट अग्निकांड को लेकर बीजेपी के दिग्गज नेता और कर्नाटक के राज्यपाल …