बेटी का मैच देखने खरीदेंगे इन्वर्टर, आज वर्ल्ड कप जीतकर इतिहास रचने उतरेगी भारतीय टीम

नई दिल्ली

यूपी के उन्नाव की रहने वाली सावित्री देवी आज लोकल मार्केट से इन्वर्टर खरीदने वाली हैं, क्योंकि वह किसी भी हाल में अपनी ऑलराउंडर बेटी अर्चना का अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल मैच मिस नहीं करना चाहती, जो आज रात इंग्लैंड से होना है। वैसे तो बोलिंग ऑलराउंडर अर्चना देवी ने अपनी मां को एक स्मार्ट फोन भी गिफ्ट किया है, लेकिन पावर कट होने पर मोबाइल की बैटरी कितना साथ देगी किसको पता। ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ 1-1 विकेट लेने वाली अर्चना ने साल 2007 में अपने पिता को खो दिया था। उनके देहांत के बाद से खुशी की आस लगाए बैठे घर में आज उम्मीदों की दिवाली है।

बिजली के भरोसे नहीं बैठ सकते
आईसीसी पहली बार महिला अंडर-19 वर्ल्ड कप का आयोजन कर रहा है। साउथ अफ्रीका में हो रहे इस टूर्नामेंट को जीतकर भारत और इंग्लैंड दोनों ही टीम इतिहास रचना चाहेंगी। अर्चना के गांव रतई पूरवा में 400 लोग रहते हैं। मीडिया से बातचीत में अर्चना की मां सावित्री देवी बताती हैं, ‘हमारे गांव में बिजली की कोई गारंटी नहीं है इसलिए मैंने इन्वर्टर खरीदने के लिए पैसे इकट्ठे किए। मेरी बेटी देश के लिए वर्ल्ड कप का फाइनल खेल रहीं हैं। इसे कैसे मिस कर सकते हैं।

सांप काटने से भाई की मौत
क्रिकेटर अर्चना की जिंदगी उतार-चढ़ाव से भरी रही। पिता को काफी कम उम्र में खोने के बाद छह साल पहले उनके छोटे भाई की सांप काटने से मौत हो गई। ये वही साल था, जब अर्चना ने पहली बार मैदान पर कदम रखा था। मेंस टीम के स्टार स्पिनर कुलदीप यादव के कोच पूनम गुप्ता और कपिल पांडे ने उन्हें ट्रेनिंग देनी शुरू की।

गायों का दूध बेचकर बेटी को पाला
अर्चना की मां सावित्री देवी अपने कठिन वक्त को याद करते हुए बताती हैं, ‘मैंने अपने 1 एकड़ के खेत में काम किया और गुजारा करने के लिए अपनी दो गायों का दूध बेचा। लोग मुझे ताने मारते थे क्योंकि मैंने अर्चना को घर से दूर गंज मुरादाबाद के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के छात्रावास में रहने के लिए भेज दिया था। वहां भर्ती होने से पहले बस का 30 रुपये का दैनिक किराया भी मुश्किल से जुगाड़ हो पाता था। सावित्री अपने बड़े बेटे के साथ एक कमरे के छप्पर वाले घर में रहती हैं। अर्चना का फाइनल मैच वह पहले स्मार्टफोन पर ऑनलाइन देखने वाले थे, जिसे बिटिया ने ही विश्व कप के लिए रवाना होने से पहले गिफ्ट किया था।

महिला IPL की बंपर तैयारियां
दिलचस्प है किइसी साल वीमेंस आईपीएल भी होना है, जिसके ब्राडकास्टिंग राइट्स 951 करोड़ रुपये में बिके और कॉरपोरेट्स घरानों ने 4,699 करोड़ रुपये देकर पांच फ्रैंचाइजी खरीदी। अब अगर आज भारतीय महिलाएं अंडर-19 का वर्ल्ड कप जीत जाता है तो ये सोने पर सुहागा ही होगा। इस वर्ल्ड कप में भारत 6 में से 5 मैच जीतकर फाइनल तक पहुंची है। सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को हराया था तो इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया को हराकर यहां तक आई है। भारतीय बल्लेबाजी का दारोमदार कप्तान और ओपनर शेफाली वर्मा और श्वेता सहरावत पर होगा।

About bheldn

Check Also

ग्वालियर के नामी स्कूल में शर्मनाक वारदात, 12 वर्षीय छात्र के साथ सीनियर हॉस्टल मेट ने किया दुष्कर्म

ग्वालियर, मध्य प्रदेश के ग्वालियर में मौजूद एक नामी स्कूल के हॉस्टल में एक नाबालिग …