मुश्किलों से घिरे अडानी के लिए आई गुड न्यूज, मिली 3200 करोड़ की बोली, निवेशक का भी साथ

नई दिल्ली

अडानी समूह के लिए ये मुश्किल भरा दौर है। गौतम अडानी की कंपनियों को लेकर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट सामने आई, जिसके बाद से अडानी समूह के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली है। लगातार शेयर्स गिर रहे हैं। कंपनी का मार्केट कैप गिरता जा रहा है। खुद गौतम अडानी के नेटबर्थ में गिरावट देखने को मिली है। सवालों से घिरे गौतम अडानी के लिए राहत की खबर आई है। उनके निवेशकों का भरोसा उनपर फिर से कायम होता दिख रहा है। गौतम अडानी पर उनके बड़े निवेशक भरोसा जता रहे हैं। वहीं अडानी एंटरप्राइजेज के फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर यानी FPO को भी बड़ी बोली मिली है।

सिंगापुर की निवेशक टेमासेक होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड ने कहा है कि वो अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन में अपने निवेश को कायम रखेंगे। वहीं यूएई की कंपनी इंटरनेशनल होल्डिंग कंपनी (IHC) ने अडानी के FPO में बड़ी बोली लगाई है। आईएचसी ने ऐलान किया है किया है कि वो अडानी एंटरप्राइजेज के FPO में अपनी सब्सिडियरी ग्रीन ट्रांसमिशन इंवेस्टमेंट होल्डिंग आरएचसी के जरिए निवेश करेगी। आपको बता दें कि IHC आबूधाबी में सबसे अधिक मार्केट कैप वाली कंपनियों में शामिल है। अब इस कंपनी ने अडानी के एफपीओ में बोली लगाकर बड़ा भरोसा दिखाया है। अडानी समूह में इससे पहले आईएचसी ने पहले भी निवेश किया है। पिछले साल ने कंपनी ने अडानी ग्रीन में निवेश किया था।

कंपनी ने कहा कि उन्हें अडानी एंटरप्राइजेज पर पूरा भरोसा है। कंपनी के सीईओ सैय्यद बसर शुएब ने कहा कि लॉगटर्म में ग्रोथ की पूरी संभावना दिख रही है। वहीं सिंगापुर की निवेशक टेमासेक होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड ने कहा है कि वो अडानी समूह की कंपनी में अपने निवेश को जारी रखेंगे। दिसंबर 2022 में टेमासेक ने अडानी पोटर्स में 1.4 करोड़ सिंगापुरी डॉलर का निवेश किया था। इसके बदले उसने 1.2 प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल की।

About bheldn

Check Also

ब्रिटेन के पीएम और उनकी पत्‍नी की रईसी कैसे बढ़ा रही इन्‍फोसिस? अमीरों की लिस्‍ट में और ऊपर

नई दिल्‍ली: इन्‍फोसिस के कारण ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक और उनकी पत्‍नी अक्षता मूर्ति …