अंकिता मर्डर केस: वनंतरा रिजॉर्ट पहुंचे विनोद आर्य, मीडिया को देख मुंह छिपाकर भागे

देहरादून,

उत्तराखंड में रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता पूर्व भाजपा नेता विनोद आर्य संदिग्ध परिस्थितियों में अपने रिजॉर्ट और कैंडी फैक्ट्री पहुंचे. यह फैक्ट्री गंगा भोगपुर में स्थित है. बता दें कि विनोद आर्य पर कुकर्म का भी आरोप लगा है.

बताया जा रहा है कि विनोद आर्य एक महिला सहित तीन लोगों के साथ कैंडी फैक्ट्री पहुंचे थे, इस दौरान विनोद आर्य ने रिजॉर्ट में घंटों तक छानबीन की. इस बात का पता चलने पर मीडिया मौके पर पहुंची तो विनोद आर्य मुंह पर रुमाल लपेटकर मीडिया के सवालों से बचते हुए कार में बैठकर लौट गए. यह पूरा मामला फैक्ट्री पर तैनात पुलिस की मौजूदगी में हुआ है.

बता दें कि अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता डॉ. विनोद आर्य के ड्राइवर ने उन पर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था. आरोप लगाने वाला 25 वर्षीय शख्स सहारनपुर के छुटमलपुर का रहने वाला है. उसका आरोप था कि नौकरी के 3 दिन के बाद डॉक्टर विनोद आर्य ने उसके साथ उल्टी सीधी हरकतें की थीं. युवक ने आरोप लगाया था कि विनोद आर्य ने उसे देर रात अपने घर बुलाया था और उसके साथ गलत हरकतें करने का प्रयास किया था.

हालांकि इस मामले में डॉ. विनोद आर्य ने बातचीत में कहा था कि यह आरोप झूठा है. विनोद ने कहा था कि ड्राइवर 21 नवंबर को पौड़ी जेल से लौटते समय नकदी और सिम लेकर फरार हो गया था. इस मामले की शिकायत ज्वालापुर पुलिस थाने में की थी. वहीं ड्राइवर के आरोपों के आधार पर ज्वालापुर कोतवाली में पुलिस ने डॉ. विनोद आर्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था.

कार में बैठकर जाते विनोद आर्य
बता दें कि अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य की गंगा भोगपुर स्थित कैंडी फैक्ट्री और वनंतरा रिजॉर्ट घटना के बाद से पुलिस की सुरक्षा में है. 24 घंटे पुलिस रिजॉर्ट और फैक्ट्री की निगरानी कर रही है.अंकिता हत्याकांड का केस भी कोर्ट में विचाराधीन है. इस बीच बुधवार को पुलकित आर्य के पिता पूर्व भाजपा नेता और कुकर्म के आरोपी विनोद आर्य अचानक अपनी फैक्ट्री और रिजॉर्ट पहुंचे. उनके साथ एक महिला सहित चार लोग और भी थे.

इनमें दो लोग कार में बाहर बैठे रहे, जबकि एक महिला सहित तीन लोगों के साथ विनोद आर्य फैक्ट्री और रिजॉर्ट की छानबीन करने अंदर चले गए. इस दौरान रिजॉर्ट में मौजूद पुलिस ने विनोद आर्य को अंदर जाने से नहीं रोका. फैक्ट्री और रिजॉर्ट में करीब ढाई से तीन घंटे तक विनोद आर्य ने क्या किया, यह सवाल खड़ा हो रहा है.

मीडिया के पहुंचते ही फैक्ट्री से निकलकर भागे विनोद आर्य
दिलचस्प यह है कि मीडिया के पहुंचने की सूचना जैसे ही विनोद आर्य को मिली, वह आनन-फानन में फैक्ट्री से बाहर मुंह पर रुमाल बांधकर निकलते हुए दिखाई दिए. मीडिया ने जब विनोद आर्य से चोरी-छिपे फैक्ट्री और रिजॉर्ट में छानबीन को लेकर सवाल किए तो विनोद आर्य सवालों से बचते नजर आए. विनोद आर्य बिना जवाब दिए कार में बैठे और रिजॉर्ट से निकल गए.

पौड़ी के एडिशनल एसपी शेखर सुयाल ने कहा कि फैक्ट्री और रिजॉर्ट को सील नहीं किया गया है. पुलिस ने अपनी विवेचना भी पूरी कर ली है. इसलिए विनोद आर्य को फैक्ट्री और रिजॉर्ट में जाने से रोकने का कोई औचित्य नहीं बनता है.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …