डोडा में भी जोशीमठ जैसा हाल, घरों में दरार आने के बाद परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा

श्रीनगर

उत्तराखंड के जोशीमठ के बाद अब जम्मू-कश्मीर के डोडा में भी लोगों के घरों में दरारें आनी शुरू हो गई हैं। डोडा के सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) अतहर अमीन जरगर के मुताबिक, पिछले साल दिसंबर में एक घर में दरारें दिखनी शुरू हुई थीं और अब बढ़नी शुरू हो गई हैं। अतहर अमीन जरगर ने कहा “डोडा जिले में दिसंबर में एक घर में दरारें आने की सूचना मिली थी। कल तक छह इमारतों में दरारें आ गई थीं, लेकिन अब ये दरारें बढ़नी शुरू हो गई हैं और क्षेत्र को धंसते हुए देखा जा सकता है।

एसडीएम ने और क्या कहा ?
डोडा के सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) अतहर अमीन जरगर ने कहा कि प्रशासन स्थिति का जायजा लेने के लिए एक टीम गठित कर रहा है। उन्होंने कहा, शुरुआती जांच कल रात पूरी की गयी थी, साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग के भूवैज्ञानिक भी रात और सुबह यहां पहुंचे हैं। वे आज शाम तक अपनी जांच रिपोर्ट सौंप देंगे। उन्होने बताया कि प्रशासन ने भूविज्ञान खनन निदेशक से बात की है और वे भी इसके पीछे के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए स्थिति की जांच के लिए टीम का गठन कर रहे हैं।

क्षेत्र को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन बहुत हद तक नुकसान हो चुका है। डोडा एसडीएम ने कहा, इसे बचाना मुश्किल है। सरकार एक समाधान खोजने की कोशिश कर रही है ताकि नुकसान आसपास के अन्य इलाकों तक न पहुंचे।

इस बीच स्थानीय लोग लगातार सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। एक डोडा निवासी ने कहा कि हम यहां रहने के लिए बहुत डरे हुए हैं। हम अपने घर के अंदर भी नहीं बैठ सकते क्योंकि पूरे इलाके में दरारें पड़ गई हैं। हम बच्चों को रहने और सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक जगह की तलाश कर रहे हैं।

इस बीच वहां के एक अन्य स्थानीय नागरिक ने कहा कि उन्हें यहां किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए उचित उपाय करने का आश्वासन दिया गया है। एक अन्य स्थानीय ने कहा कि डीसी यहां आए हैं और हमें सुरक्षा का आश्वासन दिया है, लेकिन हम प्रशासन से उन छह घरों का पुनर्वास करने का अनुरोध करते हैं, जो बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

About bheldn

Check Also

ममता बनर्जी पर गरम अधीर रंजन चौधरी के विद्रोही तेवर, खरगे के बयान पर बोले-मैं नहीं करूंगा वेलकम

कोलकाता पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष और लोकसभा के पांच बार के सदस्य अधीर रंजन चौधरी …