जिनके एजेंडे में विकास नहीं रहा, वे ही पैदा कर रहे रामचरितमानस विवाद…योगी का सपा पर निशाना

लखनऊ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि रामचरितमानस को लेकर हुआ पूरा विवाद केवल ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है। उन्होंने अखिलेश यादव और स्वामी प्रसाद मौर्या सहित पूरी समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके एजेंडे में विकास नहीं रहा, वो ऐसी शरारत कर रहे हैं।

एक टीवी चैनल पर इंटरव्यू में रामचरितमानस को लेकर सवाल का जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा, ‘मुझे जिस मंच पर रामचरितमानस की व्याख्या करनी होगी, वहां मैं जरूर करूंगा। मैं इतना जरूर कह सकता हूं कि यह प्रकरण विकास और निवेश जैसे मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए उसी पार्टी की शरारत का हिस्सा है, जिसके एजेंडे में कभी विकास रहा ही नहीं।’ उन्होंने कहा था कि जवाब उन्हें देना चाहिए जो समझ सकें।

उन्होंने कहा कि यह मुद्दा उन लोगों की ओर से उठाया जा रहा है, जो समाज में माहौल खराब करना चाहते हैं। राज्य सरकार के विकास के एजेंडे को पटरी से उतारना चाहते हैं। रामचरितमानस विवाद पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सीएम योगी ने कहा कि जिनके पास राज्य के विकास में योगदान करने के लिए कुछ नहीं है। जिन लोगों ने अतीत में इसकी छवि खराब कर दी थी। यूपी के युवाओं के लिए पहचान का संकट खड़ा किया। लोगों के सामने भविष्य सही नहीं दिखने लगा था। अब ये लोग ‘नए यूपी’ में बेचैन हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा एमएलसी स्वामी प्रसाद मौर्य की टिप्पणियों का हवाला देते हुए कहा कि जब हम ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (जीआईएस) आयोजित करने वाले हैं, तब विकास और निवेश से लोगों का ध्यान हटाने के लिए वे इस तरह के बेकार के मुद्दों को उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चौपाई के अर्थ को उचित मंच पर व्याख्या की जरूरत होगी, तो करूंगा।

दरअसल, स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरितमान पुस्तक को ‘दलित-विरोधी’ करार दिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी मौर्य का समर्थन करते हुए कहा है कि वह सीएम योगी से यूपी के पूर्व मंत्री की ओर से संदर्भित छंदों का वास्तविक अर्थ पूछेंगे। स्वामी प्रसाद मौर्य ने यूपी चुनाव 2022 के ठीक पहले भाजपा छोड़कर सपा का दामन थाम लिया था।

About bheldn

Check Also

J-K: डोडा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, सेना ने पूरे इलाके में की घेराबंदी

डोडा, जम्मू-कश्मीर के डोडा में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ का मामला सामने …