‘मोदीजी नहीं चाहेंगे अडानी पर चर्चा हो’, संसद में गतिरोध पर बोले राहुल गांधी

नई दिल्ली,

संसद का बजट सत्र चल रहा है और वित्त मंत्री की ओर से बजट पेश किए जाने के बाद से संसद के दोनों ही सदन नहीं चल पा रहे हैं. लोकसभा और राज्यसभा में जैसे ही कार्यवाही शुरू होती है, विपक्षी सांसद नारेबाजी करते वेल में आ जा रहे हैं. विपक्षी सांसद वेल में आकर सरकार और अडानी ग्रुप से जुड़े मुद्दे को लेकर नारेबाजी करने लग जा रहे जिसकी वजह से सदन की कार्यवाही बजट सत्र के तीसरे, चौथे और पांचवे दिन यानी लगातार तीन दिन नहीं चल सकी.

संसद में विपक्ष अडानी ग्रुप से जुड़े मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराने की मांग को लेकर लगातार हंगामा कर रहा है. इस बीच संसद में जारी गतिरोध को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बयान आया है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि सरकार इस बात को लेकर डरी हुई है कि कहीं संसद में अडानीजी पर चर्चा न हो जाए.

उन्होंने ये भी कहा कि पिछले दो साल से ये मुद्दा लगातार उठा रहा हूं जिससे जनता को सच्चाई का पता चले. राहुल गांधी ने कहा कि सरकार के बारे में काफी समय से बोल रहा हूं कि ये ‘हम दो, हमारे दो’ की सरकार है. समाचार एजेंसियों के मुताबिक उन्होंने कहा कि सरकार को इस पर चर्चा करानी चाहिए. आप लोग कारण जानते ही हैं कि इस पर चर्चा क्यों नहीं हो पा रही.

मोदीजी नहीं चाहेंगे अडानी पर चर्चा
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मसले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला. उन्होंने कहा कि मोदीजी पूरी कोशिश करेंगे कि अडानीजी पर चर्चा न हो. राहुल गांधी ने कहा कि लाखों-करोड़ों के भ्रष्टाचार हो रहे हैं और किस तरह देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को एक आदमी ने हाइजैक कर लिया. उन्होंने कहा कि हम अडानी के मुद्दे पर चर्चा चाहते हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ये भी कहा कि अडानी के पीछे कौन सी शक्ति है, इसका पता लगे. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने भी अडानी मुद्दे पर चर्चा की मांग की है. उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि नियम 267 के तहत इस मुद्दे पर चर्चा हो. दिग्विजय सिंह ने साथ ही ये भी साफ कर दिया कि हम अपने कदम तब तक वापस नहीं लेंगे जब तक प्रधानमंत्री इस पर संसद में चर्चा के लिए सहमत नहीं हो जाते. दिग्विजय सिंह ने कहा कि हमें अडानी मुद्दे पर पीएम मोदी का बयान चाहिए.

लगातार तीसरे दिन नहीं चली संसद
विपक्ष के हंगामे के बीच लगातार तीसरे दिन संसद की कार्यवाही नहीं चली. 11 बजे संसद की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी दलों ने दोनों सदनों में हंगामा शुरू कर दिया. नारेबाजी करते विपक्षी सांसद वेल में आ गए. विपक्षी सांसद अडानी मुद्दे की जांच जेपीसी से या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में कराने की मांग करते हुए नारेबाजी करते रहे. इसके बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही पहले दोपहर 2 बजे तक और फिर 7 फरवरी को दिन में 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

About bheldn

Check Also

‘ये क्योटो क्या जापान वाला है…’, जब स्टेज पर अखिलेश-राहुल ने की चर्चा, बेरोजगारी-महंगाई पर सरकार को घेरा

नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस नेता राहुल गांधी समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव …