तुर्की नहीं चिली में आया था दुनिया का सबसे भयानक भूकंप, मारे गए थे इतने लोग

नई दिल्ली,

तुर्की में आए भयानक भूकंप से अब तक 2300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 हजार से ज्यादा लोग घायल हैं. हर तरफ सिर्फ तबाही का मंजर नजर आ रहा है. बीते 24 घंटों में भूकंप के तीन झटकों से तुर्की पूरी तरह बर्बाद हो गया है. तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोगन ने इसे सदी की सबसे बड़ी आपदा बताया है.

तुर्की में तीन बार आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर क्रमश: 7.8, 7.5 6.0 रही है. इस भूकंप की तबाही ने लोगों को चिली में आए उस भूकंप की याद दिला दी है जिसमें 1655 लोग मारे गए थे.एक रिपोर्ट के मुताबिक इतिहास में अब तक का सबसे ज्यादा तीव्रता का भूकंप Chile के Valdivia में आया है. रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 9.5 थी.

भूकंप से कहां कितनी मौत
इस भूकंप में 1655 लोग मारे गए थे और लगभग 3000 लोग घायल हुए थे. मौत के आंकड़ों के हिसाब से अब तक का सबसे बड़ा भूकंप साल 1556 में CHINA के Shaanxi में आया था. जिसमें 8 लाख 30 हजार लोगों की मौत हो गई थी. रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 8 थी. साल 2010 में हैती में आए भूकंप में 3 लाख 16 हजार लोगों की मौत हो गई थी. साल 1976 में चीन के Tangshan में 7.5 तीव्रता का भूकंप आया था जिसमें 2 लाख 42 हजार लोगों की मौत हो गई थी.

बता दें कि यह भूकंप धरती के अंदर प्लेटों के टकराने की वजह से आया है. तुर्की में आए भूकंप की वजह से काफी संख्या में इमारतें जमींदोज हो गई हैं. बड़ी संख्या में लोग इन इमारतों के मलबे में भी दबे हुए हैं, जिन्हें बचाने की कोशिश की जा रही है. बचाव राहत दल कई लोगों का रेस्क्यू भी कर चुका है. भूकंप से मची तबाही के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोगन ने उच्च स्तरीय बैठक की है. राष्ट्रपति ने कहा है कि इस भूकंप के पीड़ितों की हर संभव मदद की जाएगी. भारत ने भी तुर्की की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है.

About bheldn

Check Also

मेक्सिको में गर्मी का कहर, छह दिनों में 138 बंदरों की मौत, 46 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान

मेक्सिको सिटी मेक्सिको में पड़ रही अत्याधिक गर्मी बंदरों के लिए काल बनकर आई है। …