‘ममता बनर्जी के बताए रास्ते पर चल रहे राज्यपाल’ बोले सुवेंदु अधिकारी, BJP ने किया विधानसभा से वॉकआउट

कोलकाता

पश्चिम बंगाल विधानसभा बजट सत्र का पहला दिन हंगामेदार रहा। पहले दिन पर राज्यपाल सीवी आनंद बोस के भाषण को लेकर बीजेपी ने बड़ा आरोप लगाया है। बीजेपी का कहना है कि राज्यपाल ममता बनर्जी की भाषा बोल रहे हैं। जो ममता बनर्जी ने लिखकर दिया है वही पढ़ रहे हैं। अभिभाषण के दौरान बीजेपी ने राज्यपाल को रोकने की कोशिश की, तभी हंगामा शुरू हो गया। उसके बाद भाजपा विधायकों ने वॉकआउट कर लिया। विधानसभा के बाहर विरोध जारी रहा। बाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि सत्ता पक्ष के प्रभाव में आकर राज्यपाल ने झूठे भाषण पढ़कर सुनाए हैं। यह सब शर्मनाक है। यह किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं है।

ममता बनर्जी की भाषा बोल रहे राज्यपाल
सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि किसी भी राज्य में विधानसभा सत्र के लिए राज्यपाल के भाषण राज्य से ही लिखा और भेजा जाता है। उस संदर्भ में सुवेंदु ने बंगाल के पूर्व राज्यपालों, गोपालकृष्ण गांधी, केशरीनाथ त्रिपाठी, जगदीप धनखड़ की तुलना भी की। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि तमिलनाडु के वर्तमान राज्यपाल ने भी हाल ही में राज्य विधानसभा में कई मुद्दों को पढ़ने से इनकार किया है। सुवेंदु का बयान, ‘बंगाल के राज्यपाल ने तमिलनाडु के राज्यपाल के दिखाए रास्ते पर नहीं बल्कि ममता बनर्जी के दिखाए रास्ते पर चल रहे हैं। जिस तरह से राज्यपाल ने राज्य की वास्तविक स्थिति का उल्लेख किए बिना ममता बनर्जी की ओर से लिखाए गए भाषण को पढ़ा, उससे राज्य के लोग और विपक्ष निराश हैं।

कानून व्यवस्था पर बोला बड़ा झूठ
सुवेंदु के मुताबिक,’राज्य में कानून-व्यवस्था की यानक स्थिति पैदा हो स्थिति इतनी खराब है कि आए दिन कहीं न कहीं बम मिल रहे हैं। नौकरी की मांग पर आंदोलनकारियों को लाठियां खानी पड़ रही है। डीए की मांग पर सरकारी कर्मचारी रैली निकाल रहे हैं। जब राज्य में इस तरह की घटनाएं रोज हो रही हैं तो राज्यपाल कह रहे हैं कि हम मुख्यमंत्री के नेतृत्व में बंगाल में शांति से रह रहे हैं।

बंगाल में मरघट की शांति
सुवेंदु अधिकारी ने कहा,’यहां श्मशान घाट की शांति बनी रहती है। यह खुशी की शांति नहीं है।’ विपक्ष के नेता ने यह भी आरोप लगाया कि विधानसभा के राज्यपाल को एक सौ दिन का काम, आवास योजना, ग्रामीण सड़क योजना का मकान का लाभ उठाकर भी राज्यपाल से झूठ कहलवाया गया है। सुवेंदु ने कहा, ‘संविधान प्रमुख राज्यपाल के मुंह से आप केंद्र सरकार के खिलाफ इतना बड़ा झूठा बयान कैसे दे सकते हैं? हमें इस बात का गहरा दुख है।’

बीजेपी विधायकों ने किया वॉकआउट
राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विपक्ष पार्टी बीजेपी के विधायकों ने वॉकआउट कर लिया। विधानसभा के बाहर गेट पर जाकर विधायकों ने जमकर राज्य सरकार के खिलाफ नारे लगाए। इस साथ ही बीजेपी की चोर धरो-जेल भरो योजना के नारे लगाए है। बीजेपी विधायकों ने कहा कि विधानसभा में इतना झूठ नहीं चलेगा। उनका कहना है राज्य सरकार जैसा समझा रही है राज्यपाल वैसा ही पढ़ रहे हैं।

About bheldn

Check Also

पुणे सड़क हादसे का नया CCTV आया सामने, नशे में नाबालिग ने ली दो इंजीनियरों की जान

पुणे, महाराष्ट्र के पुणे सड़क हादसे का वीडियो सामने आया है. जिसमें दिख रहा है …