‘…परिजनों से पूछिएगा आज क्या किया’, राज्यसभा में जब सांसदों पर भड़के धनखड़

नई दिल्ली,

राज्यसभा में गुरुवार का दिन हंगामेदार रहा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नारेबाजी के बीच राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब दिया तो वहीं पीएम मोदी का संबोधन पूरा होने के बाद सदन की कार्यवाही में दो बार व्यवधान पड़ा. राज्यसभा की कार्यवाही पीएम मोदी के संबोधन के बाद हंगामे के कारण दो बार स्थगित करनी पड़ी.

राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने सदस्यों को नियमों का हवाला देते हुए समझाने, शांत कराने और सदन चलाने की कोशिश की लेकिन इसका सदस्यों पर कोई असर नहीं पड़ा और अंत में उन्हें सदन की कार्यवाही पहले 4 बजकर 30 मिनट और फिर शाम 5 बजकर 15 मिनट तक स्थगित करनी पड़ी. दरअसल हुआ ये कि राज्यसभा में पीएम मोदी जैसे ही धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देने के लिए खड़े हुए, विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी.

पीएम मोदी के पूरे संबोधन के दौरान विपक्षी सांसद सदन में नारेबाजी करते रहे. पीएम मोदी का संबोधन समाप्त हुआ तो विपक्षी सांसद तख्तियां लेकर सभापति के आसन के सामने पहुंच गए. इस पर सभापति ने नाराजगी जताई और सदस्यों से अपनी सीट पर लौट जाने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि आपने आज जो किया, वह अच्छा उदाहरण नहीं है. सभापति ने विपक्ष के सदस्यों से कहा कि देश की 140 करोड़ जनता देख रही है. आप अपने परिवार के सदस्यों से ही पूछिएगा कि आपने आज क्या किया है.

शक्ति सिंह गोहिल के संबोधन के दौरान नारेबाजी
विपक्ष के सदस्य लौट गए और थोड़ी देर में पीएम भी सदन से चले गए. पीएम मोदी के जाने के बाद धन्यवाद प्रस्ताव पर वोटिंग हुई. वोटिंग के बाद धन्यवाद प्रस्ताव बहुमत के साथ पारित हो गया. राज्यसभा के सभापति ने धन्यवाद प्रस्ताव पारित होने के बाद बजट पर चर्चा शुरू करने के लिए शक्ति सिंह गोहिल का नाम लिया. शक्ति सिंह गोहिल तब सदन में अपनी सीट पर नहीं थे. शक्ति सिंह गोहिल आए और चर्चा शुरू की.

शक्ति सिंह गोहिल ने जैसे ही बोलना शुरू किया, सत्ता पक्ष के सदस्यों ने आपत्ति जताई. बीजेपी सांसद भूपेंद्र यादव ने नियमों का हवाला देते हुए आपत्ति जताई और कहा कि वे अब अंत में बोल सकते हैं, अभी नहीं. सभापति ने शक्ति सिंह गोहिल से अपनी बात जारी रखने के लिए कहा. शक्ति सिंह गोहिल ने बोलना शुरू किया तो सत्ता पक्ष की ओर से मोदी-मोदी के नारे लगाए जाने लगे.

दो बार स्थगित हुई कार्यवाही
सत्ता पक्ष की ओर से नारेबाजी के बीच जगदीप धनखड़ ने सदन की कार्यवाही 4 बजकर 30 मिनट तक स्थगित कर दी. सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो सत्ता पक्ष की ओर से नारेबाजी जारी रही. इसके बाद सभापति ने सदन की कार्यवाही 5 बजकर 15 मिनट तक स्थगित कर दिया और सत्ता पक्ष-विपक्ष के नेता, सभी फ्लोर लीडर्स से 4 बजकर 45 मिनट पर अपने चैंबर में आकर मिलने के लिए भी कहा.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …