सीएम गहलोत पढ़ने लगे पुराने साल का बजट, साथी मंत्री ने टोका, विपक्ष का हंगामा

जयपुर

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने तीसरे कार्यकाल का आखिरी बजट पेश कर रहे हैं. इस दौरान सीएम गहलोत ने विधानसभा में पुराना बजट पढ़ दिया. हालांकि मंत्री महेश जोशी ने उन्हें बीचे में ही रोक दिया. इसके चलते सदन में भारी हंगामा होने लगा. इसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई. विधानसभा में जब सीएम गहलोत बजट पढ़ रहे थे, तब विपक्षी नेता हंगामा करने लगे. इस दौरान अशोक गहलोत ने कहा कि थोड़ा सा सब्र रखें. इससे सभी को अच्छा लगेगा. वहीं मंत्री महेश जोशी ने कहा कि सभी लोग आपको देख रहे हैं. ये गलत बात है.

जानकारी के मुताबिक विधानसभा में विपक्ष जमकर हंगामा कर रहा है. बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत जब बजट पढ़ रहे थे, तो इस दौरान उन्होंने पिछली तीन से चार योजनाओं को भी गिना दिया. इतना ही नहीं, इसमें शहरी विकास योजना जो कि पिछले साल लागू की गई थी. उसे भी सीएम ने गिना दिया. तभी जलदाय मंत्री महेश जोशी ने सीएम के कान में कहा. इसके बाद उन्होंने सॉरी कहा. लेकिन इसके बाद विपक्ष ने सदन में भारी हंगामा शुरू कर दिया. विपक्ष के हंगामे के बीच विधानसभा स्पीकर ने कहा कि मैं सदन छोड़कर चला जाऊंगा. लेकिन हंगामा बढ़ता देख राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई.

दरअसल, सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी की घोषणा की जाती है. इसके तहत शहर में रहने वाले लोगों को 100 दिन का रोजगार मिलेगा. इस पर प्रतिवर्ष 800 करोड़ रुपए खर्च होंगे. इस दौरान उन्होंने एक शे’र भी पढ़ा. तभी जलदाय मंत्री ने उन्होंने बीच में रोका. क्योंकि सीएम जिन घोषणाओं को बजट के दौरान पढ़ रहे थे, वह पिछले साल लागू की गई थीं,

वहीं केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा कि पेपर लीक के बाद अब राजस्थान का बजट भी लीक! गहलोत जी एक कॉपी तो अपने पास भी रखते, पुराना नहीं पढ़ना पड़ता.इतना ही नहीं, केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गजब बे-सुध रहते हैं गहलोत जी, इस साल के बजट का चुनावी प्रचार किया और पढ़ने लगे पुराना बजट! जनता कुशासन से फैले अंधकार में राहत की रोशनी की सोच रही थी यहां मुख्यमंत्री की बत्ती ही गुल हो गई. समझ नहीं आ रहा, हंसे या रोएं!

महेश जोशी ने बताई मुख्यमंत्री को गलती
सीएम अशोक गहलोत अपने बजट भाषण के दौरान कुछ पुरानी घोषणाएं पढ़ दीं जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया। मंत्री महेश जोशी ने मुख्यमंत्री के पास जाकर यह गलती बतायी। इसके बाद सीएम ने माफी भी मांगी कि गलती हो जाती है। जिसके बाद अब सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि सीएम के ब्रीफ़केस में पुराना बजट आया कैसे? इसके लिए अफ़सरों पर कार्रवाई होगी लेकिन इतनी भीषण गलती हुई कैसे? नए बजट की प्रति कहां है?

About bheldn

Check Also

जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी हमले, अनंतनाग में टूरिस्ट कपल को मारी गोली, शोपियां में BJP नेता की हत्या

श्रीनगर जम्मू कश्मीर के अनंतनाग और शोपियां में दो अलग-अलग फायरिंग की घटना सामने आई …