रेस्टोरेंट में बदहवास भागती लड़की और पीछा करते शिवसैनिक… संस्कृति बचाने के नाम पर ये क्या?

सागर

मध्यप्रदेश के सागर जिले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। वायरल वीडियो एक रेस्टोरेंट के अंदर का है। वैलेंटाइन डे के दिन लड़की वहां पहुंची थी। इसी बीच संस्कृति बचाने के लिए शिवसैनिक वहां पहुंच गए। शिवसैनिकों को देखकर लड़की वहां से भागने लगती है। रेस्टोरेंट के बाहर हर तरफ शिवसैनिक ही थे। ऐसे में लड़की वापस रेस्टोरेंट में घुसती है। शिवसैनिक अंदर की तरफ जाने लगते हैं। लड़की काफी डर गई थी। यह देखकर उन्हीं में से एक युवक ने शिवसैनिकों को अंदर जाने से रोका। इस दौरान शिवसैनिक वहां नारेबाजी करते रहे।

शिवसैनिकों को देखकर लड़की काफी खौफजदा थी। वह रो रही थी। अंत में वह किचन में जाकर छुप जाती है। वहां भी युवती के पीछे शिवसैनिक नारेबाजी करते हुए जाने की कोशिश करते हैं। उन्हीं में से एक युवक उन्हें अंदर नहीं जाने देता। इस दौरान शिवसैनिकों की भीड़ में से कोई वीडियो बनाओ, वीडियो बनाओ कहकर चिल्ला रहा है। रेस्टोरेंट के बाहर सैकड़ों की तादाद में कार्यकर्ता दिखाई दे रहे हैं। ये सभी जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। लड़की की हालत देखकर लोग सवाल कर रहे हैं कि आप कैसी संस्कृति बचा रहे हैं।

दरअसल, शिवसेना उप राज्य प्रमुख पप्पू तिवारी ने 12 फरवरी को लट्ठ पूजन कर वैलेंटाइन डे के विरोध की चेतवनी दी थी। इसमें रेस्टोरेंट संचालकों को भी हिदायत दी गयी थी। रेस्टोरेंट में अश्लीलता फैलाते कोई नहीं दिखना चाहिए। हालांकि वायरल वीडियो में अश्लीलता जैसा कुछ भी नजर नहीं आ रहा है। सवाल खड़े हो रहे हैं कि इस तरह वीडियो बनाना और फिर उसे वायरल करना कितना सही है।

गौरतलब है कि वैलेंटाइन डे से पहले शिवसैनिकों ने लट्ठ पूजन किया था। साथ ही चेतावनी दी थी कि पकड़े जाने पर हम कपल की पिटाई करेंगे। होटल और रेस्टोरेंट में दिखे तो शादी करवा देंगे। सागर की घटना के बाद सवाल उठ रहे हैं कि संस्कृति बचाने के नाम पर एक लड़की के साथ ऐसी हरकत कितना जायज है। क्या सार्वजनिक रूप से किसी लड़की को जलील करना सही है।

About bheldn

Check Also

फर्जी Dr. के खिलाफ सरकार का एक्शन प्लान रेडी, सिर्फ एक क्लिक से सामने आ जाएगी सारी डिग्री

भोपाल ‘झोला छाप डॉक्टर बने परेशानी’, ‘झोला छाप डॉक्टर ने ली मरीज की जान’, ‘बीमारों …