जिस मोनू मानेसर को ढूंढ रही पुलिस, वो न्यूज़ चैनल से बोला- बोलेरो कांड से लेना-देना नहीं

भिवानी,

हरियाणा के भिवानी में जलती बोलेरो जीप में दो कंकाल मिलने के मामले में बजरंग दल के 5 कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज कराया गया है. इनमें एक आरोपी मोनू मानेसर भी है. मोनू मानेसर बजरंग दल का गुरुग्राम जिला संयोजक है. इतना ही नहीं वह खुद को गो रक्षक बताता है. मोनू समेत भिवानी कांड के सभी आरोपियों की तलाश में भरतपुर पुलिस ने स्पेशल टीम का गठन किया है. उधर, मोनू ने आज तक से बातचीत में खुद को निर्दोष बताया है.

आजतक से बातचीत में मोनू ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है. मोनू ने कहा, मामले में जो आरोपी बनाए गए हैं, वे सभी बजरंग दल से जुड़े हैं. सभी को मैं जानता हूं. लेकिन हम निर्दोष हैं. हमारा नाम इसलिए डाला गया, क्योंकि हम गो रक्षा करते हैं.

जली बोलेरो में मिले 2 कंकाल
दरअसल, हरियाणा के भिवानी के लोहारू में 16 फरवरी यानी गुरुवार को जली हुई एक बोलेरो कार में दो कंकाल मिले थे. मृतकों की पहचान नासिर (25) और जुनैद (35) के तौर पर हुई है. दोनों राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले थे. मृतकों के परिजनों ने बुधवार को नासिर और जुनैद के अगवा होने की शिकायत दर्ज कराई थी. मृतकों के परिजनों ने अपनी शिकायत में कहा था कि बजरंग दल के कार्यतकर्ताओं ने दोनों का भरतपुर से अपहरण किया है.

गुरुवार को दोनों का शव भरतपुर से करीब 200 किलोमीटर दूर भिवानी के लोहारू में मिला. माना जा रहा है कि पूरा मामला गौ तस्करी से जुड़ा है. हालांकि, पुलिस का कहना है कि इसकी जांच की जा रही है कि मामला गौ तस्करी का है या नहीं.

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर हत्या का आरोप
मृतक जुनैद के खिलाफ गो तस्करी के 5 मामले दर्ज हैं लेकिन नासिर का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है. जुनैद और नासिर के भाई ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि हरियाणा के रहने वाले अनिल , श्रीकांत , रिंकू सैनी, लोकेश सिंगला, मोनू ने दोनों को अगवा कर उन्हें जिंदा जला दिया. ये सभी बजरंग दल के कार्यकर्ता हैं.

कौन है मौनू मानेसर?
मोनू मानेसर का पूरा नाम मोहित है. वह मानेसर का रहने वाला है. पिछले 10-12 साल से बजरंग दल से जुड़ा है. वह पिछले कुछ सालों से गो तस्करों से मुठभेड़ में मुख्य चेहरे के तौर पर सामने आया है. मोनू पर युवक को गोली मारने का भी आरोप लग चुका है. इस केस में वह पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहा है. मोनू काउ प्रोटेक्शन टास्क फोर्स का भी सदस्य है.

मोनू मानेसर बोला- मुझे फंसाया जा रहा
उधर, मोनू मानेसर ने वीडियो जारी कर कहा है कि बजरंग दल की कोई भी टीम वहां मौजूद नहीं थी. मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं. ये घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. हमें इस घटना के बारे में सोशल मीडिया से पता चला है. इस घटना में जो भी आरोपी हैं, उनपर सख्त से सख्त कार्रवाई हो. हम जांच में सहयोग करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

About bheldn

Check Also

जहां अफसर मतदान में देरी करते रहे, वहीं बीजेपी के लिए काम करता रहा चुनाव आयोग, उद्धव ठाकरे ने लगाए गंभीर आरोप

मुंबई शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को आरोप लगाया कि मुंबई में …