प्रोपेगेंडा वीडियो और घटिया पत्रकारिता कभी टेलीकास्ट नहीं होनी चाहिए… BBC पर छापेमारी के बीच ब्रिटेश सांसद का बड़ा बयान

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री का विरोध लगातार जारी है। ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने इस डॉक्यूमेंट्री को घटिया पत्रकारिता बताया है। बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि इसे कभी भी जारी नहीं किया जाना चाहिए था, यह झूठ के आधार बनाई गयी डॉक्यूमेंट्री है।

एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में बीबीसी इंडिया पर आई-टी सर्वेक्षण पर ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि यह कोई नई बात नहीं है। यह काफी समय से चल रहा है। यह सुनिश्चित करना बीबीसी इंडिया का काम है कि वे नियमों का पालन करें। बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि बीबीसी को जांच में सहयोग करना चाहिए और फैसले का इंतजार करना चाहिए।

ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने और क्या कहा ?
ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने कहा ब्रिटिश सरकार भारत को एक मजबूत मित्र, एक मजबूत सहयोगी के रूप में मानती है और दोनों देश एक व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं। उन्होने बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि ऐसे में इस दोस्ती को खराब करने की कोशिश दुखद है। ब्रिटिश सांसद ने कहा कि भारत सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को बदलने के लिए पीएम मोदी के तहत एक उल्लेखनीय काम किया है और यह दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है।

बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि पीएम मोदी पर बीबीसी का यह काम “उपहास से भरा” था। और इसे एक बाहरी संगठन द्वारा बनाया गया था और ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर द्वारा इसकी देखरेख की गई थी। उन्होने कहा कि यह भारत के प्रधानमंत्री की छवि को खराब करने के मकसद से किया गया काम था।

“मैं हमेशा भाजपा का समर्थक रहा हूं”
ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि जहां तक मेरा संबंध है, मैं लंबे समय से बीजेपी का समर्थक रहा हूं। मैं बीजेपी को ब्रिटेन की कंजरवेटिव पार्टी का स्वाभाविक सहयोगी मानता हूं। यूके में कंजर्वेटिव पार्टी और यहां बीजेपी, यह वह दोस्ती है, जिसका हम मूल्य रखते हैं। साथ ही उन्होने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री के रूप में गुजरात को भारत की अर्थव्यवस्था का पावरहाउस बनाया है। अब पीएम के रूप में उन्होंने भारत को बदल दिया है।

About bheldn

Check Also

2040 तक अमेरिका में जन्म दर से ज्यादा होगी मृत्यु दर, यूएस कांग्रेस को अलग ही टेंशन

वॉशिंगटन अमेरिका में अगले 15 साल में मृत्यु दर के जन्म दर से आगे निकलने …