सिद्धारमैया को खत्म कर देना चाहिए… कर्नाटक सरकार के मंत्री का बयान, नेता विपक्ष बोले- खुद बंदूक उठा लो

बेंगलुरु

कर्नाटक के उच्च शिक्षा, आईटी, बीटी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. सी.एन. अश्वथ नारायण ने विपक्षी नेता सिद्धारमैया को खत्म करने का विवादास्पद बयान दिया है। हालांकि इसको लेकर पुलिस ने शिकायतें दर्ज की हैं। वहीं सिद्धारमैया ने गुरुवार को कहा उन्हें (मंत्री को) बंदूक खुद बंदूक उठा लेना चाहिए। सिद्धारमैया ने कहा कि आप (मंत्री अश्वथ नारायण) भड़काते क्यों हैं। इसके बजाय, एक बंदूक ले लो और मेरे पास आओ।

क्या है मामला
दरअसल मंत्री मंत्री डॉ. सी.एन. अश्वथ नारायण ने मांड्या जिले के सतनूर में एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि सिद्धारमैया टीपू सुल्तान (मैसूर के पूर्व शासक) के स्थान पर आएंगे। क्या आप वीर सावरकर या टीपू सुल्तान चाहते हैं? आपको फैसला करना होगा। आप जानते हैं कि उरी गौड़ा और नानजे गौड़ा (टीपू सुल्तान से लड़ने वाले सैनिकों) ने टीपू सुल्तान के साथ क्या किया। इसी तरह उन्हें (सिद्धारमैया) को खत्म कर देना चाहिए। इस बयान से राज्य में विवाद छिड़ गया।

सिद्धारमैया ने मंत्री के बयान पर क्या कहा?
कर्नाटक के मंत्री डॉ. सी.एन.अश्वत्थ नारायण के उसे खत्म करने के बयान पर राज्य में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने गुरुवार को कहा कि उन्हें (मंत्री को) बंदूक खुद बंदूक उठा लेना चाहिए। सिद्धारमैया ने कहा कि मंत्री अश्वथ नारायण ने लोगों को मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की तरह मुझे खत्म करने का आह्वान किया था। मैं उनकी हत्या के आह्वान से हैरान नहीं हूं। हम इनके नेताओं से प्यार, सहानुभूति, और दोस्ती की उम्मीद कैसे कर सकते हैं। वह पार्टी जो महात्मा गांधी की हत्या करने वाले का सम्मान करती है।

नारायण को तुरंत कैबिनेट से हटाएं
सिद्धारमैया ने कहा कि राज्य के एक मंत्री ने सार्वजनिक रूप से हत्या का आह्वान किया, यह दिखाता है कि सरकार जीवित नहीं, मर चुकी है। उन्होंने मांग की कि मंत्री अश्वथ नारायण को तुरंत कैबिनेट से हटा दिया जाना चाहिए। सिद्धारमैया ने कहा कि उन्होंने मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति की तरह बयान दिया। अगर उन्हें बर्खास्त और गिरफ्तार नहीं किया जाता है, तो इसका मतलब है कि बीजेपी भी मान रही है कि मंत्री अश्वथ नारायण वास्तव में मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं।

नारायण के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज
मंत्री डॉ. सी.एन. अश्वथ नारायण के खिलाफ दो पुलिस शिकायतें दर्ज की गई हैं। कांग्रेस नेता मनोहर और अन्य ने बेंगलुरु के मल्लेश्वरम पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है और मांग की है कि मंत्री के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाए। वहीं सिद्धारमैया फैन एसोसिएशन ने मंत्री के खिलाफ हुबली शहर के गोकुल रोड पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है और पुलिस से तत्काल कार्रवाई करने का आग्रह किया है। पुलिस ने शिकायतों को स्वीकार कर जांच में लिया है।

कर्नाटक विधानसभा में हंगामा
इस बीच, कर्नाटक में चल रहे विधानसभा सत्र में विवाद खड़ा हो गया, क्योंकि कांग्रेस विधायकों ने इस संबंध में मंत्री अश्वथ नारायण की ओर से दिए गए स्पष्टीकरण का विरोध किया। हालांकि अश्वथ नारायण ने विधानसभा में अपने बयान पर खेद व्यक्त किया, लेकिन उनके बयान का बचाव करने के उनके प्रयास से कांग्रेस विधायक नाराज हो गए। कांग्रेस विधायक सदन के वेल में आ गए और विरोध करने लगे। अराजक माहौल को देखते हुए स्पीकर ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

कांग्रेस ने शून्य काल में मुद्दा उठाया
कांग्रेस विधायक यू.टी. खादर ने शून्य काल में यह मुद्दा उठाया। इस पर अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी ने आपत्ति जताई। लेकिन खादर ने मांग की कि पुलिस को स्वत: संज्ञान लेकर मामले दर्ज करने चाहिए और समाज को संदेश देने के लिए कार्रवाई शुरू करनी चाहिए।

बैकफुट पर आए मंत्री, मांगी माफी
अपने बचाव में मंत्री अश्वथ नारायण ने कहा कि उन्होंने सिद्धारमैया की तुलना टीपू सुल्तान से की थी। मैंने टीपू सुल्तान के प्रति सिद्धारमैया के प्यार के बारे में बात की है। मैंने उनके बारे में अपमानजनक बात नहीं की है। मैंने कांग्रेस पार्टी को हराने का आह्वान किया है। मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है। यह एक वैचारिक अंतर है। अगर उन्हें ठेस पहुंची है तो मैं उनसे माफी मांगता हूं।

About bheldn

Check Also

‘ये क्योटो क्या जापान वाला है…’, जब स्टेज पर अखिलेश-राहुल ने की चर्चा, बेरोजगारी-महंगाई पर सरकार को घेरा

नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस नेता राहुल गांधी समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव …