तो टूटने वाली है जेडीयू, पार्टी के 16 में 6 सांसद कुशवाहा संग, नीतीश पर भारी मुसीबत!

पटना

जनता दल यूनाइटेड संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के तौर पर उपेंद्र कुशवाहा ने 19 और 20 फरवरी को दो दिवसीय खुला अधिवेशन बुलाया था। उपेंद्र कुशवाहा का कहना था कि पार्टी को मजबूत करने के लिए यह अधिवेशन बुलाया गया है। उन्होंने यह भी कहा था कि पार्टी के भीतर कई ऐसे नेता है जो ऊंचे पद पर बैठे हुए हैं लेकिन पार्टी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लगातार कमजोर करने की कोशिश कर रहे है। इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा ने अपने समर्थकों की भीड़ भी जुटाई। सोमवार को अधिवेशन का दूसरा और अंतिम दिन है। माना जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा सोमवार की बैठक के बाद बड़ा ऐलान कर सकते हैं।

उपेंद्र कुशवाहा JDU और MLC सीट छोड़ने का करेंगे ऐलान !
जनता दल यूनाइटेड संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा आज संवाददाता सम्मेलन कर जेडीयू से अलग होने की घोषणा कर सकते हैं। उपेंद्र कुशवाहा के करीबी सूत्र ने बताया कि प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उपेंद्र कुशवाहा पार्टी छोड़ने की घोषणा के साथ विधान परिषद की सीट छोड़ने का भी एलान कर सकते हैं। सूत्र ने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इर्द-गिर्द ऐसे लोगों का जमावड़ा लग चुका है जो नीतीश कुमार को किसी भी प्रकार का निर्णय लेने से रोकने का काम कर रहा है। बताया गया कि पार्टी के उच्च पद पर बैठे कई नेता ऐसे हैं जो राष्ट्रीय जनता दल के साथ हुए डील के मुताबिक जेडीयू और नीतीश कुमार को कमजोर करने की दिशा में काम कर रहे हैं। सूत्र ने बताया कि उपेंद्र कुशवाहा जिन्होंने शुरू से ही नीतीश कुमार के साथ पार्टी को खड़ा करने का काम किया था। उनके खिलाफ पार्टी को कमजोर करने वाले लोग नीतीश कुमार के कान भर रहे हैं। इसलिए उपेंद्र कुशवाहा सोमवार को पार्टी छोड़ने के ऐलान के साथ अपने विधान परिषद की सीट से भी इस्तीफा देने की घोषणा कर देंगे।

उपेंद्र कुशवाहा को कई सांसद और विधायकों का मिला साथ
जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के करीबी सूत्र ने बताया कि जनता दल यूनाइटेड के कई सांसद, उपेंद्र कुशवाहा के द्वारा उठाए गए इस कदम पर साथ है। सूत्र ने दावा किया कि जेडीयू के 16 सांसदों में से 6 सांसद ऐसे हैं जो आने वाले समय में खुलकर उपेंद्र कुशवाहा के साथ चलने को तैयार है। सूत्र ने यह भी दावा किया कि लोकसभा चुनाव के आते आते जनता दल यूनाइटेड के 12 सांसदों को छोड़कर बाकी सभी सांसद उपेंद्र कुशवाहा के साथ नजर आएंगे। सूत्र ने यह भी बताया कि जेडीयू के कई विधायक भी उपेंद्र कुशवाहा के साथ चलना चाहते हैं। हालांकि वह अभी खुलकर सामने नहीं आ रहे। लेकिन आरजेडी जिस प्रकार से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जनता दल यूनाइटेड पर हमला कर रही है। ऐसे में अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोई ठोस निर्णय नहीं लिया तो आने वाले कुछ महीनों में जेडीयू के ज्यादातर विधायक उपेंद्र कुशवाहा के साथ मिलकर राष्ट्रीय जनता दल के खिलाफ लड़ाई लड़ने को तैयार नजर आएंगे।

फिलहाल पार्टी का ऐलान नहीं करेंगे उपेंद्र कुशवाहा
सूत्र ने यह भी बताया कि उपेंद्र कुशवाहा सोमवार को पार्टी से अलग होने की घोषणा करने के साथ विधान परिषद की सीट से इस्तीफा दे देंगे। लेकिन अलग पार्टी बनाने का ऐलान आज नहीं करेंगे। सूत्र ने यह भी बताया कि पार्टी के शीर्ष पर बैठे कुछ नेता जनता दल यूनाइटेड को पूरी तरह से बर्बाद करने पर आमादा है। उपेंद्र कुशवाहा पार्टी के भीतर असंतुष्ट विधायक और सांसदों के स्थिति का आकलन करेंगे और उसके बाद नई पार्टी बनाने का ऐलान करेंगे।

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …