CM तक पहुंची दो महिला नौकरशाहों की लड़ाई, कर्नाटक के गृह मंत्री बोले- ये सड़कछाप बर्ताव

बेंगलुरू,

कर्नाटक में दो वरिष्ठ महिला नौकरशाहों के बीच विवाद अब तूल पकड़ता जा रहा है. IPS डी. रूपा ने IAS अफसर रोहिणी सिंधुरी की लड़ाई को लेकर कर्नाटक से राज्यसभा सांसद लहर सिंह सिरोया ने भी ट्वीट किया है. वहीं कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने भी नाराजगी जताई और सेवा नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी.

आईपीएस डी. रूपा मुख्य सचिव से मिलने विधानसभा पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने चीफ सेक्रेटरी से रोहिणी सिंधुरी के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई है. वहीं राज्यसभा सांसद लहर सिंह सिरोया ने कहा कि कर्नाटक में नौकरशाहों के बीच जो हो रहा है, वह दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से भारत भर के नौकरशाहों को अपने व्यक्तिगत सोशल मीडिया अकाउंट्स को बंद करने की सलाह देने का आग्रह करता हूं. उनके व्यक्तिगत विचार और प्राथमिकताएं अक्सर सरकारों के कामकाज में बाधा डालती हैं.

एजेंसी के मुताबिक कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि हम चुप नहीं बैठे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. वे दोनों इतना बुरा बर्ताव कर रही हैं, ऐसा व्यवहार तो आम लोग सड़कों पर भी नहीं करते. ये बहुत बुरा व्यवहार है. उन्हें अपने व्यक्तिगत मुद्दों पर जो भी करना है करें, लेकिन सोशल मीडिया पर ऐसा व्यवहार नहीं करना चाहिए.

अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि लोग IAS और IPS अधिकारियों को बहुत सम्मान की दृष्टि से देखते हैं, लेकिन वह दोनों अधिकारी जिस तरह से आचरण कर रही हैं, उससे सिविल सेवा अधिकारियों का अपमान हो रहा है. उन्होंने कहा कि हमारे पास हाई रैंक्स के अधिकारी हैं, वे काफी अच्छे हैं. वे ही राज्य और देश को चलाते हैं, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं, जो पूरे अधिकारी वर्ग को बदमान कर रहे हैं, ऐसे अधिकारियों को दंडित किया जाना चाहिए. मैंने डीजी से बात की है. (पुलिस महानिदेशक) और सीएस (मुख्य सचिव) से बात करेंगे. मुख्यमंत्री भी इसके बारे में जानते हैं.

अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि अधिकारी आचरण संबंधी नियमों से बंधे हैं, उन्हें पहले भी इस बारे में चेतावनी दी जा चुकी है, लेकिन वह रुक नहीं रही हैं. हालांकि मुख्यमंत्री इस सब से अवगत हैं, और वह सख्त निर्णय लेंगे.दरअसल, आईपीएस डी. रूपा ने रोहिणी सिंधुरी पर कई आरोप लगाते हुए सोशल मीडिया पर लंबी चौड़ी पोस्ट लिखी थी. उन्होंने सिंधुरी पर कदाचार का आरोप लगाते हुए व्यक्तिगत टिप्पणी भी की. रूपा ने दावा किया कि सिंधुरी ने तीन पुरुष आईएएस अधिकारियों को अपनी निजी तस्वीरें खुद भेजी थीं.

हालांकि आईएएस रोहिणी सिंधुरी ने आरोपों को निराधार बताते हुए आरोप लगाया कि एक जिम्मेदार पद पर आसीन रूपा व्यक्तिगत द्वेष के कारण उनके खिलाफ इस तरह की टिप्पणियां कर रही हैं और ऐसा व्यवहार कर रही हैं जैसे उन्होंने अपना मानसिक संतुलन खो दिया हो. दोनों ने एक-दूसरे पर सिविल सेवा आचरण नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाया है, और उन्होंने इसे उपयुक्त अधिकारियों के ध्यान में लाया है. सिंधुरी ने कहा कि वह भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत कदाचार और आपराधिक अपराधों के लिए रूपा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगी.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …