कोर्ट के आदेश के बाद बाउंड्रीवाल हटाने पहुंचा भेल बेदखली अमला बैरंग लौटा

– महिलाओं ने खदेड़ा अमले को,दीवार की दो ईट गिरा कर वापस लौटी जेसीबी मशीन
– पुलिस की मौजूदगी में क्षेत्रीय पार्षद,बजरंगदल,विश्व हिन्दु परिषद ने किया हंगामा

भोपाल

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) भोपाल उद्योग नगरी के बरखेड़ा स्थित मां सरस्वती मंदिर के आसपास पक्की बाउंड्रीवाल को हटाने मंगलवार को पूरे दलबल के साथ भेल का बेदखली अमला पहुंचा। इस अतिक्रमण हटाने की खबर पहले ही लोगों को मिल चुकी थी । ऐसे में जैसे ही बेदखली अमले ने पुलिस की मौजूदगी में जेसीबी मशीन के साथ बाउंड्रीवाल तोडऩे की कार्यवाही शुरू की तब सैंकड़ों की संख्या में स्थानीय पार्षद सहित बिहार सांस्कृतिक परिषद, बजरंगदल, विश्व हिन्दु परिषद और स्थानीय महिलाओं ने विरोध शुरू कर दिया। ऐसे में बेदखली अमला पुलिस की मौजूदगी में भी असहाय नजर आया । महिलाऐं दीवार के सामने खड़ी हो गई और नारे बाजी करने लगी । काफी हंगामें के बाद भेल का बेदखली अमला दीवार की मात्र दो ईट गिरा कर बैरंग वापस लौट आया। इस अतिक्रमण हटाने की कमान भेल टाउशिप के अपर महाप्रबंधक सपन सुहाने व उनकी टीम संभाले हुये थे ।

गौरतलब है कि यह मामला लंबे समय से भेल के संपदा न्यायालय में चल रहा है। इसके पूर्व ही अतिक्रमण अमले ने दीवार तोडऩे की कोशिश कई बार की लेकिन स्थानीय नेताओं के संरक्षण के चलते इस अतिक्रमण को हटाने में कामयाबी नहीं मिली । यहां तक की एक नेता ने तो भेल के अफसरों को गाली गलौच तक कर डाली । इसके बाद इस मामले की जांच में भी उक्त नेता को भेल प्रबंधन ने बरी कर दिया । सूत्र बताते हैं कि आज भी दो यूनियन नेताओं की लड़ाई के चलते इस अतिक्रमण को हटाना असंभव दिखाई दे रहा है । हालांकि मंदिर के आसपास की जमीन पर किये गये अतिक्रमण में सरकार के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने मंदिर समिति को राशि भी उपलब्ध कराई है । अब देखना यह है कि कोर्ट के इस आदेश के चलते यह अतिक्रमण हट पाता है या नहीं ।

इधर भेल प्रवक्ता का कहना है कि बीएचईएल सम्पदा न्यायालय के आदेशानुसार, आज नगर प्रशासन का संपूर्ण अमला जिसमें बेदखली टीम सीविल अनुरक्षण के सदस्य, सुरक्षा कर्मी के साथ राज्य पुलिस का दस्ता भी सम्मलित था, द्वारा सरस्वती मंदिर ई सेक्टर बरखेड़ा में अवैध निर्माण पर कार्यवाही की गई। घटना स्थल पर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में बेदखली की टीम द्वारा जेसीबी मशीन द्वारा अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की कार्यवाही प्रारम्भ की गई। अवैध दीवार को तोडऩे के लिए जेसीबी मशीन का उपयोग किया गया। मौके में उपस्थित स्थानीय पार्षद सहित विभिन्न सामाजिक संस्थानों जैसे बिहार सांस्कृतिक परिषद, बजरंग दल व विश्व हिंदु परिषद के पुरूष व महिला सदस्यों द्वारा अवैध निर्माण को गिराने के दौरान भारी विरोध किया गया। स्थिति को संवेदनशील होते देख नगर प्रशासन द्वारा आगे की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

About bheldn

Check Also

लक्ष्य इवने बेस्ट स्टूडेंट अवार्ड से सम्मानित

भोपाल बाबूलाल गौर स्नातकोत्तर महाविद्यालय बीएचईएल के बीएससी तृतीय वर्ष बायोटेक्नोलॉजी के छात्र लक्ष्य इवने …