‘देवर’ पर केस दर्ज करा चर्चा में आईं राजा भैया की पत्नी भानवी सिंह

बस्ती,

अपने देवर पर ही धोखाधड़ी का एफआईआर कराने वालीं भानवी सिंह इस समय सुर्खियों में हैं. कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की पत्नी भानवी सिंह ने अपने देवर और एमएलसी अक्षय प्रताप सिंह पर उनसे जुड़ी हुई कंपनियों में उनकी जाली दस्तखत करके शेयर बेचने का आरोप लगाया है. हालांकि इस मामले में राजा भैया का कहना है कि वह अपने छोटे भाई के साथ हैं. आइए जानते हैं कि भानवी सिंह कौन हैं?

भानवी सिंह का बस्ती राजघराने से सीधा संबंध है क्योंकि वो बस्ती के राजघराने की पुत्री हैं. भानवी सिंह का जन्म 10 जुलाई 1974 में बस्ती राजघराने में हुआ था. भानवी बस्ती राजा के छोटे पुत्र कुंवर रवि प्रताप सिंह की बेटी हैं. कुंवर रवि प्रताप सिंह के 4 बेटियां हैं, जिसमें भानवी उनकी तीसरे नंबर की बेटी हैं. भानवी सिंह की शुरुआती पढ़ाई बस्ती में ही हुई थी.

1995 में हुई थी भानवी और राजा भैया की शादी
भानवी सिंह ने अपनी आठवीं तक की पढ़ाई बस्ती के सेंट जोसेफ स्कूल से पूरी की. उसके बाद आगे की पढ़ाई पूरी करने के लिए वह अपनी मां मंजूल सिंह के साथ लखनऊ चली गईं. भानवी सिंह की शादी प्रतापगढ़ के राजपूत भदरी रियासत के राजा उदय प्रताप सिंह के बेटे कुंवर रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भइया से 1995 में हुई थी.

17 फरवरी 1995 में रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की बारात बस्ती के राज महल में आई थी, जिसके बाद राजघराने के पुरोहितों ने विधि विधान से भानवी सिंह और राजा भैया के शादी कराई. शादी के बाद 1996 में भानवी सिंह ने दो जुड़वा पुत्रियों को जन्म दिया, लेकिन अफसोस की बात यह रही कि इन दोनों जुड़वा बेटियों में से एक की मृत्यु हो गई.

इसके बाद 1997 में फिर भानवी ने एक बेटी को जन्म दिया. 2003 में भानवी सिंह ने दो जुड़वा बेटे को जन्म दिया. राजा भैया और भानवी सिंह के दो बेटे हैं, जिनका नाम शिवराज और बृजराज है और दो बेटियां हैं, जिनका नाम राघवी और बृजेश्वरी है.

मुलायम सिंह ने निभाई थी समधी की रस्म
भानवी और राजा भैया की शादी के बाद अगले दिन विदाई की रस्म अदायगी की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है, क्योंकि विदाई के समय उस समय के मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव समधी के रूप में थे. अभी विदाई की रस्म चल ही रही थी, तभी मुलायम सिंह यादव के ऊपर भानवी सिंह की मां मंजुल सिंह ने उनके ऊपर लाल रंग फेंक दिया था.

इसके बाद मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात सिक्योरिटी के जवानों में अचानक अफरा-तफरी मच गई थी और वह समझ नहीं पाए कि आखिर में मुख्यमंत्री के साथ यह क्या हुआ, लेकिन बाद में लोगों ने रस्म के बारे में बताया तो लाल रंग में सराबोर मुलायम सिंह यादव ने रस्म को सहर्ष स्वीकार किया और अपने संबंधी होने का रश्म निभाया.

भानवी और राजा भइया के रिश्तों में आई खटास
दोनों राजघरानों की चर्चित शादी के कई साल बीतने के साथ-साथ अब रिश्तों में खटास आ गई है. पति-पत्नी पिछले 2 साल से एक साथ नहीं रह रहे हैं. इतना ही नहीं दिल्ली की कोर्ट में रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने अपनी बीवी भानवी सिंह के खिलाफ मैट्रिमोनियल केस भी फ़ाइल कर रखा है.

About bheldn

Check Also

लालू ने सारण में बढ़ाया सियासी सस्पेंस, राजीव प्रताप रूडी के ‘MM’ पर भारी पड़ रहा KDB फैक्टर, जानें पूरी बात

छपरा बिहार की हॉट सीटों में सारण संसदीय क्षेत्र भी इस बार शामिल हो गया …