‘बोलिए ठीक से, ई बिहार है…’, कार्यक्रम में क्यों भड़के बिहार के CM नीतीश कुमार

पटना,

बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार को किसान समागम कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अधिकारियों पर भड़क गए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के बापू सभागार में आयोजित किसान समागम के दौरान खेती लेकर व्याख्यान दे रहे अधिकारी को जमकर फटकार लगाई और साथ ही ठीक से बोलने की नसीहत भी दी.

दरअसल हुआ ये कि पटना के बापू सभागार में किसान समागम के दौरान अधिकारी और कृषि वैज्ञानिक, कृषि विभाग से जुड़े अधिकारी कृषि को लेकर व्याख्यान दे रहे थे. कृषि में सुधार, किसानों के हित के लिए सुझाव दे रहे थे. इसी दौरान एक अधिकारी ने अपने व्याख्यान के दौरान अंग्रेजी भाषा के कुछ शब्दों का इस्तेमाल कर दिया.

फिर क्या था. मंच पर मौजूद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भड़क गए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारी की क्लास लगा दी. उन्होंने कहा कि अपने देश की भाषा हिंदी बोलते हुए शर्म आ रही है आप लोगों को. आपको बुलाया गया है खेती पर सुझाव देने के लिए न जी.

सीएम नीतीश ने कहा कि खेती तो आम आदमी न करता है. उन्होंने कहा कि ई भारत है न जी, ई बिहार है. सीएम नीतीश ने नसीहत देते हुए कहा कि जरा बोलिए ठीक से. अधिकारी ने जवाब में सीएम नीतीश से क्षमा मांगी और इसके बाद सीएम नीतीश के सुर थोड़े नरम पड़े.

उन्होंने कहा कि बोल ठीक रहे हैं, बोलिए लेकिन जरा अपने राज्य की भाषा में बोलिए न. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि आपको बुलाया गया है खेती पर सुझाव देने के लिए तो आधा अंग्रेजी बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि आप हर चीज में शुरू कर दे रहे हैं. नीतीश ने कहा कि ये ठीक नहीं है.

उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद किसानों से मुखातिब होते हुए कहा कि आजकल हो क्या गया है कि जबसे कोरोना आया है, लोग मोबाइल में देख रहे हैं और नया-नया शब्द बोल रहे हैं. सीएम नीतीश ने कहा कि लोग अपनी भाषा हिंदी को भूलते जा रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की इस बात पर कार्यक्रम में मौजूद लोग अपनी हंसी नहीं रोक पाए.

About bheldn

Check Also

ममता बनर्जी पर गरम अधीर रंजन चौधरी के विद्रोही तेवर, खरगे के बयान पर बोले-मैं नहीं करूंगा वेलकम

कोलकाता पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष और लोकसभा के पांच बार के सदस्य अधीर रंजन चौधरी …